गैस पाइप लाइन में आग लगने की मजिस्ट्रीयल जांच शुरू
गैस पाइप लाइन में आग लगने की मजिस्ट्रीयल जांच शुरू
उत्तराखंड

गैस पाइप लाइन में आग लगने की मजिस्ट्रीयल जांच शुरू

news

एसडीएम ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया हरिद्वार, 23 जुलाई (हि.स.)। विवेक विहार कालोनी में घर-घर गैस पहुंचाने के लिए बिछायी जा रही पाइप लाइन में आग लगने की घटना की जांच कर रही एसडीएम कुसुम चौहान ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया। इस दौरान कार्यदायी संस्थाओं यूपीसीएल व हरिद्वार गैस लिमिटेड के अधिकारी भी मौजूद रहे। निरीक्षण के दौरान एसडीएम ने कालोनी वासियों से घटना के संबंध में जानकारी जुटायी। जिस गड्ढे में आग लगी उस गड्ढे को भी खुदवा कर देखा गया। जांच के दौरान इस बात की भी जांच की गयी कि विद्युत लाइन व गैस लाइन एक दूसरे से कितनी दूरी पर हैं। साथ ही हरिद्वार गैस लिमिटेड के अधिकारियों से जानकारी ली गयी कि यदि गैस लीकेज की कोई घटना होती है तो स्थानीय लोग इसकी जानकारी किसको और कैसे देंगे। सुरक्षा के उपायों पर भी जानकारी जुटायी गयी। इसके अलावा एसडीएम ने संबंधित विभागीय अधिकारियों से पूछा कि क्या कार्य मानकों के अनुरूप किए जा रहे हैं। जांच के दौरान आसपास के लोगों ने आग लगने से एक दिन पूर्व ही गैस की गंध आने की जानकारी भी एसडीएम को दी। जानकारी देने वाले स्थानीय लोगों के बयान भी लिए गए। शहर में भूमिगत विद्युत लाइन तथा सीधे घरों में रसोई गैस पहुंचाने के लिए लाइन बिछायी जा रही है। सप्ताह भर पूर्व विवेक विहार कालोनी में भूमिगत विद्युत लाइन व गैस पाइप लाइन बिछाने के लिए खोदे गए गड्ढे में आग लग गयी थी। आग लगने की घटना की जांच के लिए एसडीएम सदर को जांच अधिकारी नामित किया गया है। गौरतलब है कि शहर के तमाम व्यापारिक व सामाजिक संगठन तथा आम लोग भूमिगत विद्युत लाइन व गैस पाइप लाइन बिछाने के कार्य में अनियमितताएं बरते जाने का आरोप लगा रहे हैं। लोगों द्वारा गैस पाइप लाइन व बिजली लाइन एक साथ बिछाए जाने पर खतरे की आशंका भी व्यक्त की जा रही है। हिन्दुस्थान समाचार/रजनीकांत-hindusthansamachar.in