कोरोना: सिर्फ मास्क ही नहीं, आंखों की सुरक्षा भी जरूरी: डॉ राजे सिंह नेगी
कोरोना: सिर्फ मास्क ही नहीं, आंखों की सुरक्षा भी जरूरी: डॉ राजे सिंह नेगी
उत्तराखंड

कोरोना: सिर्फ मास्क ही नहीं, आंखों की सुरक्षा भी जरूरी: डॉ राजे सिंह नेगी

news

ऋषिकेश,16 सितम्बर (हि.स.) । कोरोना संक्रमण नाक, मुंह, हाथ के अलावा आंख से भी हो सकता है। इसलिए आंखों की सुरक्षा भी जरूरी है। यह कहना है नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. राजे सिंह नेगी का। नेगी के अनुसार कोरोना संक्रमण मुंह और नाक से निकले ड्रॉपलेट्स के माध्यम से फैलता है। यह किसी सतह पर लंबे समय तक सक्रिय रहता है। लोहे की सतह पर यह 24 घंटे तक सक्रिय रह सकता है। वह कहते हैं कि यदि कोई व्यक्ति उस सतह को छूता है तो वायरस के कण हाथ पर लग जाते हैं और यदि इन्हीं हाथों को आंख, मुंह और नाक से लगाया जाए तो ये वायरस व्यक्ति में प्रवेश कर सकता है। वे कहते हैं कि मुंह और नाक तो मास्क से कवर हो जाते हैं, लेकिन आंखों को कवर नहीं किया गया तो हाथ आंखों से लगेंगे और संक्रमण होने खतरा हो सकता है। जब कोई संक्रमित व्यक्ति छींकता या खांसता है तो हमारी श्वासनली से ड्रॉपलेट्स बाहर निकलते हैं और ये हवा में छह से आठ फीट की दूरी तक जाते हैं। ये ठीक हवा में स्प्रे करने के समान होता है। इससे बचने के लिए हमें संक्रमित व्यक्ति से आठ फीट दूर रहना चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार /विक्रम/मुकुंद-hindusthansamachar.in