कैसा होगा कुंभ का स्वरूप, तय करेगी कोरोना की स्थिति: मदन कौशिक
कैसा होगा कुंभ का स्वरूप, तय करेगी कोरोना की स्थिति: मदन कौशिक
उत्तराखंड

कैसा होगा कुंभ का स्वरूप, तय करेगी कोरोना की स्थिति: मदन कौशिक

news

हरिद्वार, 05 नवम्बर (हि.स.)। आगामी कुंभ की तैयारियां जोरों शोरों से चल रही हैं लेकिन कोरोना दिव्य व भव्य कुंभ के आयोजन में बाधा बना हुआ है। कोरोना की गति के साथ ही कुंभ के आयोजन का भविष्य तय होगा। कुंभ के आयोजन में अब थोड़ा ही समय शेष रह गया है। कुंभ की तैयारियों के लिए तथा कुंभ के स्वरूप को लेकर अखाड़ा परिषद के साथ कई दौर की बैठकें भी की जा चुकी हैं लेकिन अभी तक कुंभ का स्वरूप कैसा होगा? इस पर स्थिति स्पष्ट नहीं हो पाई है। माना जा रहा है कि अब दिसंबर महीने में कोरोना की स्थिति को देखने के बाद ही कुंभ के स्वरूप पर फैसला लिया जा सकता है। प्रदेश सरकार के शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने बताया कि साल 2021 में कुंभ भव्य और दिव्य होगा। उन्होंने कहा कि अखाड़ा परिषद और धार्मिक संस्थाओं ने बैठकर जो तिथि तय की है, उन तिथि के मुताबिक ही सभी कार्यक्रम और शाही स्नान होंगे। साथ ही राज्य सरकार ने यह निर्णय लिया है कि दिसंबर महीने में कोरोना की स्थिति को देखते हुए कुंभ के प्रकार पर निर्णय लिया जाएगा। मदन कौशिक ने कहा कि यह डबल इंजन की सरकार है, कुंभ के लिए पैसा राज्य सरकार दे या फिर केंद्र सरकार, इसकी चिंता नहीं है। चिंता इस बात की है कि कुंभ भव्य दिव्य और अच्छा हो। कौशिक ने कहा कि दिल्ली में कोरोना के लगातार मामले बढ़ रहे हैं। साथ ही पूरा यूरोप फिर से लॉकडाउन की ओर बढ़ रहा है। ऐसे में अभी फिलहाल यह नहीं कहा जा सकता कि कुंभ का प्रकार क्या होगा या फिर उसका स्वरूप क्या होगा ? हालांकि, अखाड़ा परिषद ने भी यह प्रस्ताव रखा था कि सरकार कुंभ के स्वरूप को लेकर फिलहाल कुछ तय करें। लिहाजा, राज्य सरकार अभी व्यवस्थाओं को पूरा करने में जुटी हुई है। हिन्दुस्थान समाचार/रजनीकांत-hindusthansamachar.in