कृषि कानूनों के खिलाफ सड़क पर उतरे किसान
कृषि कानूनों के खिलाफ सड़क पर उतरे किसान
उत्तराखंड

कृषि कानूनों के खिलाफ सड़क पर उतरे किसान

news

रुद्रपुर (उधम सिंह नगर), 05 नवम्बर (हि.स.)। कृषि कानूनों के विरोध में तराई किसान संगठन ने गुरुवार को काशीपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर धरना देकर सरकार के खिलाफ जबरदस्त प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के चलते दोनों तरफ वाहनों की लंबी-लंबी कतारें लग गई, जिस कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर गुरुवार को किसानों ने गल्ला मंडी के बाहर राष्ट्रीय राजमार्ग पर जमकर प्रदर्शन किया। इस दौरान उनके द्वारा धरना भी दिया गया, जिस कारण दोनों तरफ वाहनों की लंबी-लंबी कतारें लग गई। धरना-प्रदर्शन पर आयोजित सभा में किसानों ने कृषि कानूनों को काला कानून बताया। तराई किसान संगठन के अध्यक्ष तजिंदर सिंह विर्क ने कहा कि केंद्र सरकार ने किसानों पर तीन काले कानून थोप कर किसानों के साथ अन्याय किया है। किसान इन कानून को लेकर खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार बड़े-बड़े उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए किसान विरोधी कानून लेकर आई है। पूर्व दर्जा मंत्री गणेश उपाध्याय ने कहा कि जब तक कृषि कानूनों को वापस नहीं लिया जाता तब तक किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार लगातार किसानों का उत्पीड़न कर रही है। आज देश का अन्नदाता दर-दर भटक रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/ विजय आहूजा-hindusthansamachar.in