कुंभ में गंगा में सिक्के ढूंढने वाले बनेगें गोताखोर
कुंभ में गंगा में सिक्के ढूंढने वाले बनेगें गोताखोर
उत्तराखंड

कुंभ में गंगा में सिक्के ढूंढने वाले बनेगें गोताखोर

news

हरिद्वार, 14 अक्टूबर (हि.स.)। 2021 कुंभ मेले अब गंगा में सिक्के और नारियल ढूंढने वाले गोताखोरों को भी रोजगार मिलेगा। स्नान के दौरान गंगा में डूबने वाले श्रद्धालुओं को बचाने के लिए इन गोताखोरों का एक विशेष दल बनाया जाएगा। जिनकी गंगा किनारे घाटों पर तैनात की जाएगी। इस काम के लिए इन गोताखोरों को वर्दी के साथ मानदेय भी दिया जाएगा। इसकी तैयारी कुंभ मेला प्रशासन ने शुरू कर दी है। हरिद्वार में कुंभ मेला हो या अन्य स्नान पर्व अभी तक डूबते हुए लोगों को बचाने के लिए जल पुलिस की ही तैनाती की जाती है, लेकिन इस बार गंगा में सिक्के और नारियल खोजने वाले गोताखोरों को भी रक्षक के तौर पर तैनात किया जाएगा। कुंभ मेलाधिकारी दीपक रावत ने इसके लिए 100 से अधिक गोताखोरों का चयन कर लिया है, जिन्हें अब विशेष ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके अलावा गंगा में बेरिकेड्स आदि लगाकर भी श्रद्धालुओं को डूबने के बचाने की योजना बनाई गई है। उल्लेखनीय है कि धर्मनगरी हरिद्वार में बड़ी संख्या में स्थानीय लोग बहती गंगा में सिक्के, धातुओं और नारियल आदि खोजने का काम करते है। इन लोगों की तैराकी बड़ी कमाल की होती है। इनमें अधिकतर लोग इसके जरिये ही अपनी रोजी-रोटी कमा लेते है, लेकिन कुंभ मेला प्रशासन की अनूठी पहल से इन्हें रोजगार तो मिलेगा ही बल्कि आगे आने वाले अन्य स्नान पर्वों पर भी प्रशासन को बड़ा सहयोग मिल सकता है। हिन्दुस्थान समाचार/रजनीकांत/मुकुंद-hindusthansamachar.in