उत्तराखंड में ‘उत्तरावुड’ स्थापित करने के लिए मुख्यमंत्री को भेजा खुला पत्र
उत्तराखंड में ‘उत्तरावुड’ स्थापित करने के लिए मुख्यमंत्री को भेजा खुला पत्र
उत्तराखंड

उत्तराखंड में ‘उत्तरावुड’ स्थापित करने के लिए मुख्यमंत्री को भेजा खुला पत्र

news

-राज्य में फिल्म निर्माण में बताई संस्कृति के प्रसार एवं रोजगार की अपार संभावनाएं नैनीताल, 17 सितम्बर (हि.स.)। नैनीताल निवासी एनएसडी यानी राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय के स्नातक एवं बॉलीवुड कलाकार इदरीश मलिक ने प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को खुला पत्र लिखकर राज्य में बॉलीवुड की तर्ज पर अपना ‘उत्तरावुड’ स्थापित करने के लिए सुझाव दिए हैं। इदरीश का कहना है कि एनएसडी में हर देश भर के केवल 20 छात्र निकलते हैं। उत्तराखंड और नैनीताल का सौभाग्य है कि यहां 40 से 50 एनएसडी स्नातक हैं, और इनमें से 19 नैनीताल के हैं। वह स्वयं वर्ष 2000 से नैनीताल में बीएम शाह ओपर एयर थियेटर की स्थापना कर देश भर के कलाकारों को बुलाकर बिना किसी सरकारी सहायता के हर वर्ष 15 मई से 30 जून तक ग्रीष्म नाट्य महोत्सव आयोजित कर रहे हैं। उन्होंने वर्ष 2016 में तत्कालीन मुख्यमंत्री द्वारा नगर में प्रेक्षागृह की स्थापना करने की घोषणा के बावजूद स्थापना न करने पर नाराजगी जताते हुए यहां के कलाकारों की उपेक्षा पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने सुझाव दिया है कि राज्य में हर ए व बी ग्रेड के होटल में राजस्थान, केरल व महाराष्ट्र आदि राज्यों की तर्ज पर सांस्कृतिक मंडलियों के कार्यक्रम आयोजित करने की अनिवार्यता करने, प्रदेश के दोनों मंडलों में लोग नाट्य, चित्रकला, फिल्म, संगीत आदि के लिए लाइब्रेरी व छात्रावास आदि सुविधाओं युक्त गुरुकुलों की स्थापना करने, इन गुरुकुलों से चार वर्ष का कोर्स कर निकलने वाले छात्रों को अस्थाई तौर पर कक्षा 6 से 12 तक के बच्चों को 6-6 माह के लिए दोनों मंडलों में संस्कृतियों का आदान-प्रदान करते हुए अपने विषय पढ़वाने, राज्य में हर 30 किमी में 20-30 सीटों वाले एवं मात्र 20, 30 या 50 रुपए शुल्क वाले 5000 छोटे सिनेमा हॉल बनाने तथा उनमें महाराष्ट्र सरकार की तर्ज पर अपनी संस्कृति व कहानियों पर स्थानीय फिल्में बनाकर दिखाने की व्यवस्था करने का सुझाव दिया है। हिन्दुस्थान समाचार/नवीन जोशी-hindusthansamachar.in