उत्तराखंड की पहली ई-लोक अदालत में चमोली  जिले से  47 मामलों का हुआ निस्तारण
उत्तराखंड की पहली ई-लोक अदालत में चमोली जिले से 47 मामलों का हुआ निस्तारण
उत्तराखंड

उत्तराखंड की पहली ई-लोक अदालत में चमोली जिले से 47 मामलों का हुआ निस्तारण

news

58 लाख 65 हजार 559 रुपये प्रतिकर के रूप में दिलाये गये बैंकों में प्री लीटीगेसन के तीन मुकदमों का हुआ निस्तारण गोपेश्वर, 12 सितम्बर (हि.स.)। उत्तराखंड की पहली ई-लोक अदालत के अंतर्गत चमोली जिले में लम्बित विभिन्न मामलों में 47 मुकदमों का निस्तारण किया गया। इसमें 58 लाख 5 हजार 559 रूपये प्रतिकर के रूप में दिलाये गये। इसके अलावा बैंकों के प्री लीटिगेसन के तीन मामलों का भी निस्तारण किया गया, जिसमें तीन लाख 50 हजार रुपये का निर्धारण किया गया। उच्च न्यायालय और राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशन में शनिवार को पहली लोक अदालत चमोली जिले में आयोजित हुई। ई लोक अदालत के बारे में जानकारी देते हुए सचिव जिला विधिक सेवा व जज सीनियर डिवीजन सुधीर कुमार ने बताया जिले में जिला मुख्यालय और सभी आउट लाइन अदालतों में ई लोक अदालत का आयोजन किया गया। ई लोक अदालत के लिये जिला मुख्यालय में दो बेंचों का गठन किया गया। बेंच नम्बर एक में अध्यक्ष जिला जज राजेन्द्र सिंह चौहान थे। और सदस्य अधिवक्ता मनवर सिंह सिंह सजवाण थे। बेंच संख्या दो में अध्यक्ष मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट राजीव धवन और सदस्य अधिवक्ता दिलवर सिंह फस्र्वाण थे। इस लोक अदालत में आउट लाइन कोर्ट में कर्णप्रयाग में अध्यक्ष सिविल जज सीनियर डिवीजन अखिलेश कुमार पांडे और सदस्य अधिवक्ता संजय हटवाल रहे। ई लोक अदालत में थराली में अध्यक्ष सिविल जज सुश्री शाइस्ता बानो व सदस्य अधिवक्ता जय राम रहे। गैरसैण में अध्यक्ष सिविल जज भारती मंगलानी व सदस्य अधिवक्ता केएस बिष्ट रहे। जोशीमठ में अध्यक्ष सिविल जज रोहित जोशी रहे जबकि सदस्य अधिवक्ता अरुण शाह थे। हिन्दुस्थान समाचार/जगदीश-hindusthansamachar.in