अनुमति मिलने पर ही रामलीला के कुछ कार्यक्रमों का आयोजन होगा: सोमप्रकाश शर्मा
अनुमति मिलने पर ही रामलीला के कुछ कार्यक्रमों का आयोजन होगा: सोमप्रकाश शर्मा
उत्तराखंड

अनुमति मिलने पर ही रामलीला के कुछ कार्यक्रमों का आयोजन होगा: सोमप्रकाश शर्मा

news

देहरादून, 15 अक्टूबर (हिस)। श्रीरामलीला कला समिति रामलीला बाजार द्वारा 152वां श्री रामलीला महोत्सव प्रशासन की अनुमति पर ही आयोजित हो सकेगा। इस संदर्भ में रामलीला कला समिति की गुरुवार को बैठक संरक्षक मंडल के महामंत्री सोमप्रकाश शर्मा तथा समिति अध्यक्ष अरविंद गोयल की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में दयालचंद गुप्ता, महेश गर्ग, मनमोहन जायसवाल, शरद गोयल, विक्की गोयल, सतीश कश्यप, राकेश महेन्दू्र, शोभित मांगल, राकेश भंडारी विशेष रूप से उपस्थित थे। प्रतिवर्ष इस रामलीला में प्रथम नवरात्र से आयोजन प्रारंभ किया जाता था जिसमें श्रीराम विवाह शोभायात्रा, लंका दहन, भरत मिलाप, राजतिलक तथा रासलीला का आयोजन किया जाता था। इस वर्ष कोरोना महामारी संक्रमण के कारण समिति पूर्व तैयारी नहीं कर पाई है, जबकि रामलीला समिति को मंचन की तैयारी में लगभग छह माह लगते हैं। कलाकार मथुरा वृंदावन से आते हैं जिन्हें छह माह पहले अनुबंधित करता होता है जबकि लंका बनाने वाले कलाकार काशीपुर से आते हैं। समिति के प्रवक्ता का कहना है कि आनलॉक प्रारंभ हो चुका है लेकिन लीला के मंचन के लिए मात्र दो दिन शेष है। समिति नगराधीश के माध्यम से प्रशासन से रामलीला आयोजित करने की अनुमति का आवेदन किया है, लेकिन अब तक कोई अनुमति नहीं मिली है जिसके कारण शायद ही इस बार रामलीला का मंचन हो सके। समिति के प्रवक्ता के अनुसार परंपरा के निर्वाह स्वरूप 17 अक्टूबर को घट स्थापना व दुर्गापाठ के साथ पूर्व की भांति सुंदरकांड पाठ का आयोजन किया जाएगा। यदि प्रशासन की अनुमति मिल गई तो श्रीराम विवाह सवारी के नगर भ्रमण एवं लंका दहन का आयोजन किया जाएगा। बैठक में कुलदीप त्यागी तथा ललित मोहन शर्मा प्रमुख रूप से उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार/ साकेती-hindusthansamachar.in