प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार की चयनकर्ता बनीं राशि, संगमनगरी का सिर गर्व से ऊंचा
प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार की चयनकर्ता बनीं राशि, संगमनगरी का सिर गर्व से ऊंचा
उत्तर-प्रदेश

प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार की चयनकर्ता बनीं राशि, संगमनगरी का सिर गर्व से ऊंचा

news

-भारत से सिर्फ दो का नाम चयनकर्ता सूची में शामिल प्रयागराज, 24 जुलाई (हि.स.)। रेडियो की जानी-पहचानी आवाज के. राशि कुमार ने एक बार फिर संगमनगरी का सिर गर्व से ऊंचा कर दिया है। उनका नाम एसोसएशिन फॉर इंटरनेशल ब्रॉडकास्टिंग (एआईबी) लंदन की ओर वर्ष 2020 के लिए दिए जाने वाले प्रतिष्ठित पुरस्कार की चयनकर्ता में शामिल हुआ है। यह पुरस्कार 17 नवम्बर, 2020 को लंदन में दिया जायेगा। दुनिया भर से चुने गए 43 चयनकर्ताओं में सिर्फ दो नाम भारत के शामिल किए गए हैं। के. राशि कुमार के अलावा प्रसार भारती के अपर महानिदेशक सुनील भारत हैं। खास बात यह कि राशि ने 2017 में एआईबी के पुरस्कार के लिए प्रेजेंटर ऑफ द इयर (ऑडियो) कैटेगरी में जगह बनाई थी। लंदन की यह संस्था हर साल अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पत्रकारिता, टीवी, रेडियो, ऑडियो और डिजिटल प्रोडक्शन के क्षेत्र में पुरस्कार देती है। इसमें भाषा की कोई सीमा नहीं है। इस प्रतिष्ठित पुरस्कार को प्राप्त करने के लिए पूरी दुनिया से जाने-माने मीडियाकर्मी, संस्थाएं आवेदन करती हैं। प्रयागराज के सिविल लाइंस की रहने वाली राशि के अनुसार 'यह मेरे लिए बहुत ही सम्मान की बात है। मैं देश-दुनिया में मीडिया क्षेत्र के विभन्न माध्यमों में किए गए कुछ सर्वोत्कृष्ट कार्यों को परखने और इन पुरस्कारों में अपने योगदान को लेकर बहुत अधिक उत्साहित हूं।' रेडियो और शिक्षण के क्षेत्र में 24 साल से अधिक का अनुभव रखने वाली राशि को कई प्रतिष्ठित पुरस्कार मिल चुके हैं। 2016 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उन्हें एक लाख रुपये का रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार प्रदान किया था। 1997 में अंग्रेजी प्रस्तोता के रूप में आकाशवाणी से अपना कॅरियर शुरू करने वाली राशि के नाम 1800 से अधिक लाइव रेडियो शो की मेजबानी का रिकॉर्ड है। इलाहाबाद विश्वविद्यालय के इंस्टीट्यूट ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज में रेडियो जर्नलिज्म एंड इंग्लिश कम्युनिकेशन की शिक्षिका राशि दो प्राइवेट एफएम रेडियो चैनल की कार्यक्रम प्रमुख रह चुकी हैं। हिन्दुस्थान समाचार/विद्या कान्त/राजेश-hindusthansamachar.in