योगी सरकार का नया फरमान, शुक्रवार से मंगलवार तक रहेगा वीकेंड लॉकडाउन

योगी सरकार का नया फरमान, शुक्रवार से मंगलवार तक रहेगा वीकेंड लॉकडाउन
yogi-government39s-new-decree-weekend-lockdown-will-be-from-friday-to-tuesday

लखनऊ, 29 अप्रैल (हि.स.)। कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने वीकेंड लॉकडाउन को लेकर नया फरमान जारी कर दिया है। अब शुक्रवार की शाम 08 बजे से मंगलवार सुबह 07 तक साप्ताहिक बंदी रहेगी। गुरुवार को टीम-11 के साथ बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह फैसला लिया। इसके पहले अभी सोमवार तक की व्यवस्था थी। संक्रमण कम करने में कोरोना कर्फ्यू बहुत उपयोगी मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोविड संक्रमण से स्वस्थ होने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। ऐसे में हमें और सतर्कता बरतनी होगी। संक्रमण प्रसार को कम करने में कोरोना कर्फ्यू बहुत उपयोगी हो रही है। उन्होंने बताया कि इस अवधि में केवल आवश्यक और अनिवार्य सेवाएं ही यथावत जारी रहेंगी। औद्योगिक गतिविधियां और वैक्सीनेशन कार्य साप्ताहिक बंदी में भी जारी रहेंगी। इस व्यवस्था को तत्काल प्रभाव से लागू किया जाए। योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश कोविड के खिलाफ लड़ाई में पूरी प्रतिबद्धता के साथ लड़ रहा है। कोविड की पहली लहर के अनुभवों से सीखते हुए स्वास्थ्य संसाधनों को प्राथमिकता के साथ बेहतर किया गया है। हमें हर परिस्थिति के लिए तैयार रहना होगा। उन्होंने कहा कि सरकारी अस्पतालों में संसाधन बढ़ाये जा रहे हैं, इसके साथ-साथ निजी अस्पतालों/मेडिकल कॉलेज को भी इसमें जोड़ा जाए। सभी विकल्पों की परख करते हुए कोविड बेड को वर्तमान क्षमता से दोगुनी करने की कार्यवाही हो। सभी बेड पर ऑक्सीजन आदि जरूरी चिकित्सा संसाधनों की उपलब्धता होनी चाहिए। मानवता के अपराधियों पर पुलिस करे सख्त कार्रवाई उन्होंने कहा कि कुछ जिलों में कुछ अस्पतालों द्वारा मरीजों से अवैध वसूली की शिकायत मिली है। फर्जी चिकित्सकों की भी खबरें आई हैं। यह लोग मानवता के अपराधी हैं। इन की सार्वजिनक निंदा होनी चाहिए। पुलिस को ऐसे लोगों पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। कोविड वॉरियर्स के साथ अभद्रता की घटनाएं निंदनीय मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य सेवा में संलग्न कोविड वॉरियर्स के साथ अभद्रता की कुछ घटनाएं निंदनीय हैं। स्वास्थ्यकर्मी पूरी प्रतिबद्धता के साथ हमारी-आपकी सेवा में दिन-रात लगे हुए हैं, उनके साथ अभद्रता कतई स्वीकार नहीं की जा सकती। जिला प्रशासन ऐसी घटनाओं पर कठोरतम कार्रवाई करें। प्रत्येक दशा में स्वास्थ्यकर्मियों की सुरक्षा सुनिश्चित कराई जाए। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश