कोरोना से बचाव के लिए दैनिक जीवन में योग व प्राणायाम बहुत ही आवश्यक

कोरोना से बचाव के लिए दैनिक जीवन में योग व प्राणायाम बहुत ही आवश्यक
yoga-and-pranayama-are-very-important-in-daily-life-to-prevent-corona

बांदा, 21 जून (हि.स.) अंतर-राष्ट्रीय योग दिवस पर सरस्वती विद्या मंदिर इन्टर काॅलेज बांदा में योग व प्राणायाम का कार्यक्रम का आयोजन किया गया। साथ ही 15 जून से 21 जून तक चलने वाले वर्चुअल ऑनलाइन साप्ताहिक योग शिविर का भी समापन हो गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रामप्रकाश यागिक ने कहाकि स्वस्थ्य शरीर में ही स्वास्थ्य मस्तिष्क का वास होता है। योग द्वारा हम शतायु हो सकते हैं। योग हमारे ऋषि मुनियों की देन है। योग के माध्यम से हमारे ऋषि मुनि गंभीर से गंभीर बीमारियों को दूर करते थे।आज कोरोना महामारी से बचाव के लिए दैनिक जीवन में योग व प्राणायाम बहुत ही आवश्यक है। इसके जरिये रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ा सकते हैं। धनराज सिंह जी( योग प्रशिक्षक) एवं जयकरन सिंह(शारीरिक प्रमुख) द्वारा ताड़ आसन, वृक्ष आसन, त्रिकोण आसन, शलभ आसन, पशिचिमोत्तान आसन,मंडूक आसन कराकर उसके लाभों के विषय में बताया साथ ही भ्रामरी, अनुलोम विलोम प्राणायाम का अभ्यास कराया गया। विद्यालय के प्रधानाचार्य अतुल कुमार वाजपेयी ने बताया कि इस कार्यक्रम में विद्यालय के भैया-बहिन वर्चुअल ऑनलाइन माध्यम से सम्मिलित रहे। विद्यालय के अध्यक्ष संतोष सिंह ने आभार प्रकट किया। संचालन शारीरिक शिक्षक अमरनाथ ने किया। कार्यक्रम में योगाध्यक्ष पतंजलि योग व वैद्य उदयभान, विद्यालय के पूर्व प्रधानाचार्य शिवबली सिंह व विद्यालय के सभी आचार्य-आचार्या एवं कर्मचारी बंधु उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/अनिल

अन्य खबरें

No stories found.