पैसे की चिंता नहीं, आपदा में लोगों का जान बचे पहली प्राथमिकता : पूरन डाबर

पैसे की चिंता नहीं, आपदा में लोगों का जान बचे पहली प्राथमिकता : पूरन डाबर
worry-over-money-lives-of-people-in-disaster-are-the-first-priority-puran-dabur

कोरोना: जीवन बचाने के लिए 250 बेड का कोविड अस्पताल तैयार आगरा, 04 मई(हि.स.)। कोविड महामारी के बीच आगरा शहर की सामाजिक संस्थाओं ने स्वास्थसेवाओं में अपना योगदान बढ़ाना शुरू कर दिया है। शू एक्सपोर्टर्स की संस्था व आईएमए ने मिल कर आगरा के सींगना में 250 बैड का कोविड अस्पताल तैयार किया है। इसमें स्थानीय प्रशासन लगातार मदद कर रहा है। यह अस्पताल आधुनिक सुविधाओं से लैस होगा। जल्द मरीजों को अस्पताल में उपचार मुहैया कराया जाएगा। शू एक्सपोर्टर्स संस्था के अध्यक्ष पूरन डाबर जो कि एक समाजसेवी के रूप में पहनाने जाते हैं। उन्होंने कोरोना की आपदा में मरीजों को अस्पताल में जगह ना मिल पाने की वजह से अपनों को खो देने की घटना से प्रभावित होकर सींगना में 250 बैड का अस्पताल तैयार कराया है। जिसमें बैड व ऑक्सीजन गैस व बिजली की सुविधा मुहैया कराई जा रही है। आनन-फानन में तैयार किये गये इस अस्पताल में मरीजों को मेडिकल की सभी सुविधाएं मुहैया हो उसके लिए सरकारी व निजी मेडिकल संस्थानों को लोगों की जान बचाने वाली इस मुहिम में शामिल किया जा रहा है। अध्यक्ष पूरन डाबर ने हिन्दुस्थान समाचार को बताया कि लोगों की जान बचाना इस आपदा में पहली उनकी प्राथमिकता है। शहर की सभी संस्थाओं को इस आपदा काल में आगे आकर काम करने का आग्रह किया गया है। बताया कि इस कार्य में कई परेशानी आ रही हैं, जिसे स्थानीय प्रशासन हल करने में जुटा हुआ है। जिलाधिकारी आगरा प्रभु नारायण सिंह ने भी सेंटर को देखा है। उन्होंने भी स्वास्थ विभाग के अधिकारियों के साथ बात की है। सरकारी व निजी चिकित्सा क्षेत्र में कार्य करने वाले चिकित्सकों व पैरामेडिकल स्टॉफ टीम तैयार की गई है,जल्द ही लोगों को उपचार शुरू होगा। कहाकि इस कार्य में आने वाले खर्च की कोई चिंता नहीं है। बस इस आपदा में मरीजों को उपचार मिले ताकि उस परिवार की मुस्कान हमेशा बनी रहे। कोराना से लोग घबराएं नहीं, मन से खुद को अंदर से मजबूत बनाएं और अपना बचाव भी करें। बता दें कि समाजसेवी पूरन डाबर पहले से आगरा में गरीब व मेहनत मजदूरी करने वाले लोगों के लिए 10 रूपये में खाने की बैन चला रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार / श्रीकांत