women39s-commission-takes-cognizance-of-the-case-of-the-victim-who-is-wandering-to-register-her-legacy
women39s-commission-takes-cognizance-of-the-case-of-the-victim-who-is-wandering-to-register-her-legacy
उत्तर-प्रदेश

वरासत दर्ज कराने के लिए भटकर रही पीड़ित के मामले को महिला आयोग ने लिया संज्ञान

news

अमेठी, 03 फरवरी (हि.स.)। योगी सरकार के सख्त निर्देश के बावजूद उत्तर प्रदेश में जमीन से जुड़े मामलों में अधिकारियों की लापरवाही बादस्तूर जारी है। ताजा मामला उस वक्त देखने को मिला जब पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में राज्य महिला आयोग्य की सदस्या अनीता सचान के समक्ष गांव की रहने वाली महिला अमरावती ने पहुंचकर न्याय की गुहार लगाई। वह वरासत के लिए काफी परेशान हैं। वह अपनी लड़की को लेकर मायके में रह रही है। पीड़ित महिला का आरोप है उसकी जमीन उसके अपने ही पति के बड़े भाई ने हड़प लिया और जोत-बो रहे हैं। सात महीने से हम परेशान हैं, परिवार रजिस्टर से हमारा नाम तक कटवा दिया गया है। जिलाधिकारी के हस्ताक्षेप पर परिवार रजिस्टर में उसका नाम चढ़ा, लेकिन वरासत के कागज में नाम अभी तक नही चढ़ा है। इस मामले को संज्ञान में लेने के बाद सदस्या ने प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों के पेंच कसे। कहा पीड़ित महिला की जमीन है वो क्या करें वो जानने, लेकिन उसे उसका हक मिलना चाहिए। इसके एक ही बच्ची है तो इसको हक मिलना चाहिए, वरना ये किसके भरोसे रहेगी। फिर उन्होंने पीड़िता से कहा परेशान बिल्कुल ना हो, वरासत तुम्हारी होकर रहेगी। हिन्दुस्थान समाचार/असगर-hindusthansamachar.in