women-will-hold-talks-with-district-magistrate-on-quothaq-ki-baatquot
women-will-hold-talks-with-district-magistrate-on-quothaq-ki-baatquot
उत्तर-प्रदेश

जिलाधिकारी से समस्याओं पर “हक की बात” में वार्ता करेंगी महिलाएं

news

— संरक्षण और सुरक्षा तंत्र को लेकर दी जाएगी जानकारी, समस्याओं का होगा निदान कानपुर, 23 फरवरी (हि.स.)। सुरक्षा व सम्मान के साथ महिलाओं को स्वालंबी बनान के लिए उत्तर प्रदेश बराबर प्रयासरत है। इसी के तहत मिशन शक्ति अभियान का आगाज किया गया है और महिलाओं को सहायता मिल रही है। इस अभियान को आगे बढ़ाते हुए जिला प्रशासन ने हक की बात नाम से महिलाओं से वार्ता करने का फैसला लिया है। मिशन शक्ति अभियान की कड़ी में बुधवार को महिलाएं, किशोरियां और बच्चे जिलाधिकारी आलोक तिवारी से सीधे तौर पर ‘हक की बात’ करेंगी । जिलाधिकारी के साथ जिला प्रोबेशन अधिकारी भी फोन पर उपलब्ध रहेंगे। जिला प्रोबेशन अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि उत्तर प्रदेश के महिला कल्याण निदेशालय की ओर से महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा को लेकर बराबर जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है। इसके साथ ही प्रदेश में महिलाओं तथा बच्चों की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलम्बन के लिये मिशन शक्ति अभियान भी चलाया जा रहा है। अभियान के तहत बुधवार को “हक की बात” में यौन हिंसा, लैंगिक असमानता, घरेलू हिंसा, दहेज हिंसा आदि के सम्बन्ध में संरक्षण, सुरक्षा तंत्र, सुझावों, सहायताओं के लिए दो घंटे का पारस्परिक संवाद का आयोजन किया गया है। आयोजन के तहत महिलाएं दोपहर एक बजे से तीन बजे तक जिलाधिकारी के सीयूजी नंबर 9454417554 पर वार्ता कर अपनी समस्याएं रख सकती हैं। इसके साथ ही मेरे (जिला प्रोबेशन अधिकारी) सीयूजी नंबर 7518024059 पर भी महिलायें अपनी समस्याओं पर वार्ता कर सकती हैं। उन्होंने बताया कि ऐसे कायक्रमों से महिलाओं में सुरक्षा का भाव पैदा होगा तो वहीं स्वालंबी बनने की ओर अग्रसर होंगी। इस आयोजन से महिलाओं को अपनी समस्याओं को उचित फोरम पर उठाने का जहां मौका मिलेगा, वहीं अपनी बात को उठाने में आड़े आने वाली हिचक भी दूर होगी। महिलायें तथा बच्चे या उनकी ओर से कोई भी घरेलू हिंसा, दहेज शोषण, शारीरिक और मानसिक शोषण, लैंगिक असमानता, बाल विवाह, बाल श्रम, भिक्षावृत्ति, यौनिक हिंसा व छेड़छाड़ आदि मुद्दों पर बात करने के साथ ही इससे निपटने का सुझाव भी जिलाधिकारी के सामने रख सकते हैं। इसके अलावा पोषण और स्वास्थ्य सम्बन्धी मुद्दों तथा अगर किसी महिला या बच्चे की किसी प्रकरण में कहीं सुनवाई नही हो रही है तो भी आने जिलाधिकारी से सीधे बात कर सकते हैं। प्रदेश में महिलाओं व बच्चों की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलंबन के लिए चलाये जा रहे ‘मिशन शक्ति’ को हर माह अलग थीम पर मनाने का निर्णय लिया गया है। इस माह की थीम- ‘सामाजिक व्यवहार, परिवर्तन संचार’ तय की गयी है । महिला कल्याण विभाग द्वारा मिशन शक्ति के तहत बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग के साथ संयुक्त कार्ययोजना बनाकर इसे चलाया जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/अजय/मोहित