बलरामपुर में बढ़ा नदियों का जलस्तर, प्रशासन सतर्क

बलरामपुर में बढ़ा नदियों का जलस्तर, प्रशासन सतर्क
water-level-of-rivers-increased-in-balrampur-administration-alert

बलरामपुर, 16 जून (हि.स.)। पांच दिनों से लगातार हुई बरसात से जनपद की प्रमुख नदी राप्ती और सभी पहाड़ी नदियों में जल स्तर बढ़ने लगा है। पहाड़ी नदियों से सटे तकरीबन पांच दर्जन गांव में परेशानी बढ़ गई है। बाढ़ की आंशका को लेकर जिला प्रशासन ने सभी बाढ़ चौकियों को अलर्ट कर दिया है। वहीं, स्थानीय मौसम विभाग ने 20 जून तक मौसम खराब रहने के संकेत दिए हैं। पांच दर्जन गांवों में बड़ी परेशानी जनपद में बीते पांच दिनों से लगातार हुई बरसात से खेत खलिहान में पानी भर गया है। नगर तुलसीपुर, बलरामपुर, पचपेड़वा के विभिन्न क्षेत्रों में जल निकासी की पर्याप्त व्यवस्था ना होने से वार्ड में पानी भरा हुआ है। महाराजगंज तराई क्षेत्र के खरझार पहाड़ी नाले के समीप बसे तकरीबन पांच दर्जन गांव में परेशानी बढ़ गई है। यहां खरझार पहाड़ी नाला का धारा बदल जाने से बाढ़ आने पर सीधे नदी का पानी गांव में प्रवेश कर जाता है। जनपद के पचपेड़वा स्थित आंचलिक कृषि मौसम कार्यालय के वैज्ञानिक डॉ अंकित तिवारी ने बताया है कि 20 जून तक मौसम खराब रहेंगे । बढ़ने लगा नदियों का जलस्तर, राप्ती चेतावनी बिंदु से नीचे बुधवार को जनपद की राप्ती नदी सहित सीरिया, धोबहा, भांभर, नकटी सहित तकरीबन जनपद में बह रही एक दर्जन पहाड़ी नाला (छोटी नदियां) में जलस्तर बढ़ने लगा है। जिससे तटवर्ती गांव में रह रहे लोग बाढ़ की आशंका को लेकर सशंकित हैं। राप्ती बाढ़ नियंत्रण के सहायक अधिकारी मैराज ने बताया कि राप्ती अभी चेतावनी बिंदु से नीचे बह रही है लेकिन जलस्तर बढ़ रहा है। बाढ़ को लेकर प्रशासन सतर्क बाढ़ की आशंका को लेकर जिलाधिकारी श्रुति ने मंगलवार को ही अधिकारियों के साथ बैठक कर सभी तटबंधों की निगरानी किये जाने तथा बाढ़ खंड अधिकारी को नेपाल से सम्पर्क में रहने के निर्देश दिये हैं, जिससे नेपाल से पानी आने की सूचना समय से मिल जाए। इससे त्वरित गति से बाढ़ की सम्भावना से निपटा जा सके। बाढ़ चौकी व राहत केंद्रों पर कर्मियों की 24 घंटे ड्यूटी लगाया गया है। एडीएम अरुण कुमार शुक्ल ने बताया कि 18 बाढ़ राहत केंद्र व 32 बाढ़ नियंत्रण चौकी बनाई जाएगी। बाढ़ राहत केंद्र पर 24 घंटे कानूनगो, लेखपाल व अन्य तहसील कर्मचारियों की ड्यूटी रहेगी। बाढ़ राहत केंद्र पर स्वास्थ्य विभाग की टीम व पशुपालन विभाग की टीम निरंतर उपस्थित रहेगी। 12 बड़ी नाव बाहर से मंगाई गई है। हिन्दुस्थान समाचार/प्रभाकर/विद्या कान्त

अन्य खबरें

No stories found.