लखनऊ एक्सप्रेस वे पर वाॅल्वो बस खम्भे से टकराई, एक की मौत, 25 से अधिक घायल
लखनऊ एक्सप्रेस वे पर वाॅल्वो बस खम्भे से टकराई, एक की मौत, 25 से अधिक घायल
उत्तर-प्रदेश

लखनऊ एक्सप्रेस वे पर वाॅल्वो बस खम्भे से टकराई, एक की मौत, 25 से अधिक घायल

news

फिरोजाबाद, 31 जुलाई (हि.स.)। आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर थाना नगला क्षेत्र अंतर्गत शुक्रवार की तड़के एक डबल डेकर बस अनियंत्रित होकर डिवाइडर पर चढ़कर खम्भे से टकरा गई। इस हादसे में गंभीर रूप से घायल बस में सवार पांच लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां एक व्यक्ति की मौत हो गई। जबकि करीब 25 सवारियां चोटिल हो गई। जिन्हें उपचार देकर गंतव्य को भिजवाया गया है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर शुक्रवार की तड़के प्रतापगढ़ से दिल्ली जा रही एक बोल्वो बस आगरा की तरफ थाना नगला खंगर क्षेत्र अंतर्गत अनियंत्रित होकर डिवाइडर पर चढ़ते हुए खम्भे से टकरा गई। हादसा इतना भीषण था कि बस का अगला हिस्सा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। हादसे के बाद बस में सवार लोगों ने चीख-पुकार मचाना शुरू कर दी। चीख-पुकार सुन आसपास के लोग व अन्य वाहन चालकों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। इधर जानकारी होते ही यूपीडा के कर्मी भी मौके पर आ गये। सूचना मिलते ही सीओ सिरसागंज डॉ. ई रज राजा भी थाना पुलिस के साथ मौके पर पहुंच गये। पुलिस ने आनन—फानन में बस में फंसे लोगों को बाहर निकाला। जिनमें से पांच लोगों की हालत गंभीर देख उन्हें तत्काल उपचार हेतु संयुक्त चिकित्सालय शिकोहाबाद लाकर भर्ती कराया। जहां उपचार के दौरान दिल्ली के सोनिल बिहार निवासी चालक मुख्तियार (50) की मृत्यु हो गई। जबकि प्रतापगढ़ के थाना लालगंज क्षेत्र के बचिया दीवान निवासी प्रमोद (45), शिवम (5), प्रतापगढ़ के अठपुरा सोना निवासी दयाशंकर (40) और दिल्ली के करबला नगर अमिता बिहार कालोनी निवासी राजकुमार गिरी (50) का उपचार चल रहा है। हादसे में 20 से 25 सवारियों को मामूली चोट भी आई है। जिनको प्राथमिक उपचार दिया गया है। बस में करीव 57 यात्री बैठे थे। इस सम्बंध में सीओ सिरसागंज डॉ. ई रज राजा ने बताया कि एक्सप्रेस वे पर एक बोल्वो बस डिवाइडर पर चढ़ने के कारण खम्भे से टकराई है। हादसे में पांच लोग गंभीर घायल हुए है। जिनमें एक व्यक्ति की मौत हुई है। बाकी 20 से 25 लोगों को मामूली चोटें आई हैं। जिन्हें प्राथमिक उपचार के बाद उनके गंतव्य तक भिजवाया गया है। उन्होंने बताया कि दुर्घटना के पीछे प्रथम दृष्टया चालक को नींद आना ही कारण प्रतीत होता है। हिन्दुस्थान समाचार/कौशल राठौर/राजेश-hindusthansamachar.in