Vivekananda's towering personality presented Vedanta philosophy to the world: Siddharth Nath Singh
Vivekananda's towering personality presented Vedanta philosophy to the world: Siddharth Nath Singh
उत्तर-प्रदेश

विवेकानंद के विशाल व्यक्तित्व ने वेदांत दर्शन को दुनिया के सामने पेश किया : सिद्धार्थ नाथ सिंह

news

प्रयागराज, 12 जनवरी (हि.स.)। प्रदेश का युवा छोटी छोटी चीजों को ध्यान में रखकर सकारात्मक दिशा पर पहल कर राष्ट्रभक्ति के साथ चिंतन और परिश्रम के जरिए समाज को स्वामी विवेकानंद की प्रेरणा से समृद्धिशाली प्रयागराज बना सकता है। उनके विशाल व्यक्तित्व ने वेदांत के दर्शन को दुनिया के सामने पेश किया। उक्त विचार उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने धूमनगंज में आयोजित स्वामी विवेकानंद जयंती पर राष्ट्रीय युवा महोत्सव कार्यक्रम में युवाओं को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किया। श्री सिंह ने कहा उनके जन्म दिवस को हम राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाते हैं। युवाओं के प्रेणास्त्रोत स्वामी विवेकानंद के आदर्शों को जीवित रखना है और उनके बताए मार्ग पर आगे बढ़ना है। स्वामी विवेकानंद के अध्यात्म से प्राप्त ज्ञानमय विचार प्रत्येक व्यक्ति के जीवन को प्रकाशमय एवं प्रेरित करते हैं। स्वामी विवेकानंद कर्म पर भरोसा रखने वाले ऐसे महापुरुष थे, जिन्होंने अध्यात्मिक एवं धार्मिक ज्ञान के आधार पर समस्त संसार को प्रेरणा दी। सही और गलत का आकलन कर हमें काम करना चाहिए, तभी व्यक्तित्व में निखार आता है। प्रयागराज स्वच्छ और सुंदर बना रहे यही सही मायने में राष्ट्रभक्ति है। पूर्व उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. नरेंद्र सिंह गौर ने कहा 1984 से युवा दिवस मनाया जा रहा है। मैं सरकार से मांग करता हूं कि विवेकानंद के जीवन और दर्शन को विद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रमों में शामिल कर पढ़ाया जाय। ऐसे महापुरुष देश और समाज के लिए प्रेरणादायक हैं। युवाओं को ऊर्जा और शक्ति विवेकानंद के आदर्श जीवन से गति मिलती है। रविराज राष्ट्रीय प्रवक्ता वेदांत साहित्य संस्थान ने विवेकानंद के जीवन और दर्शन पर प्रकाश कार्यक्रम के संयोजक युवा भाजपा नेता पवन मिश्र ने संचालन करते हुए सभी का स्वागत किया। इस मौके पर भाजपा महानगर अध्यक्ष गणेश केसरवानी, क्षेत्रीय उपाध्यक्ष अवधेश चंद गुप्ता, कमलेश कुमार, प्रेम नारायण केसरवानी, मीडिया प्रभारी दिनेश तिवारी, रामजी शुक्ला, चंद्रभूषण सिंह पटेल, संजय कुशवाहा, चंद्रशेखर ओझा, जगमोहन आर्या, अरुण दुबे, आभा सिंह, देव प्रकाश पांडे, अभिषेक तिवारी, निखिल पाठक, शिवम तिवारी, विनय, राजकुमार, अभिनव, शुभम तिवारी आदि ने संबोधित करते हुए युवाओं को जागृत किया। तत्पश्चात सपा नेता डॉ. ऋचा सिंह की माता के स्वर्गवास उपरांत तेरहवीं कार्यक्रम में गोविंदपुर आवास पहुंच कर शोक संवेदना व्यक्त करते हुए उनको ढांढ़स बंधाया। हिन्दुस्थान समाचार/विद्या कान्त-hindusthansamachar.in