वाराणसी : सूजाबाद क्षेत्र के गंगा में सात शव मिले, रेत में दफनाये गये

वाराणसी : सूजाबाद क्षेत्र के गंगा में सात शव मिले, रेत में दफनाये गये
varanasi-seven-bodies-found-in-ganges-of-sujabad-region-buried-in-sand

वाराणसी,13 मई (हि.स.)। उत्तर प्रदेश के गंगा किनारे के जिलों बलिया, गाजीपुर और चंदौली के बाद गुरूवार को वाराणसी रामनगर थाना क्षेत्र के सूजाबाद कस्बे के गंगा किनारे सात शव मिले। जिन्हें पुलिस ने रेत में गड्ढे बनाकर दफन करा दिया। मिले शवों में पांच पुरुष और दो शव महिलाओं का रहा। क्षेत्रीय लोगों के अनुसार अपरान्ह में राजघाट पुल के पिलर के पास पहला शव उतराया दिखा। इसके बाद लगभग चार किलोमीटर की दूरी पर छह शव और मिले। शवों को देखने से प्रतीत हो रहा था कि सभी शवों को गंगा में प्रवाहित किया गया है। एक साथ सात शव मिलने की सूचना पर डीसीपी अमित कुमार, एसीपी और अन्य अफसर भी मौके पर पहुंच गए। पूंछताछ के बाद अफसरों ने क्षेत्रीय युवक के सहयोग से सभी शवों को दफन करा दिया। गंगा में लगातार शव मिलने से प्रशासनिक अधिकारी भी गम्भीर हो गये हैं। उधर, गंगा में उतराये शव मिलने को लेकर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सरकार पर ट्वीटर के जरिये हमला बोला है। प्रियंका ने लिखा कि खबरों के अनुसार बलिया, गाजीपुर में शव नदी में बह रहे हैं। उन्नाव में नदी के किनारे सैकड़ों शवोें को दफना दिया गया। लखनऊ, गोरखपुर, झांसी, कानपुर जैसे शहरों में मौत के आंकड़े कई गुना कम करके बताये जा रहे हैं। उप्र में ज्यादा अमानवीयता हो रही है। सरकार अपनी इमेज बनाने में ही व्यस्त है। इन मामलों पर उच्च न्यायालय के न्यायाधीश की निगरानी में तुरन्त न्यायिक जांच होनी चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर/विद्या कान्त

अन्य खबरें

No stories found.