वाराणसी: नेपाली युवक का सिर मुंडवाकर लिखा ‘जय श्री राम’, एक गिरफ्तार
वाराणसी: नेपाली युवक का सिर मुंडवाकर लिखा ‘जय श्री राम’, एक गिरफ्तार
उत्तर-प्रदेश

वाराणसी: नेपाली युवक का सिर मुंडवाकर लिखा ‘जय श्री राम’, एक गिरफ्तार

news

वाराणसी, 17 जुलाई (हि.स.)। वाराणसी में एक नेपाली युवक का जबरन सिर मुड़वाकर सिर पर जय श्रीराम लिखवाने वालों पर एसएसपी अमित पाठक ने शिकंजा कस दिया है। एसएसपी के निर्देश पर इस मामले में भेलूपुर पुलिस ने शुक्रवार को घसियारी टोला निवासी संतोष कुमार पांडेय को गिरफ्तार कर लिया। संतोष सिर मुड़वाने के दौरान नेपाली युवक का वीडियो बना रहा था। एसएसपी ने बताया कि मुख्य आरोपित अरुण पाठक सहित अन्य की तलाश में पुलिस टीम दबिश दे रही हैं। भगवान श्रीराम और अयोध्या पर नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के विवादास्पद बयान के प्रतिक्रिया में गुरुवार शाम विश्व हिन्दू सेना के अध्यक्ष अरूण पाठक और अन्य कार्यकर्ताओं ने एक नेपाली युवक को पकड़ा। आरोप है कि सिर का जबरन मुंडन कराने के बाद उसके सिर पर जय श्रीराम लिख दिया था। कार्यकर्ता इतने पर ही नहीं रूके इस पूरी घटना का आपत्तिजनक वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। वीडियो के वायरल होने पर मामला सोशल मीडिया और चैनलों पर गरमाते ही वाराणसी पुलिस एक्शन में आ गई। एसपी सिटी के निर्देश पर भेलूपुर थाना प्रभारी उदय प्रताप सिंह ने अरुण पाठक सहित अन्य लोगों के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्टर लगाने, नेपाल के कथित नागरिक का सिर मुड़ाकर फेसबुक पर पोस्ट करने और विभिन्न समुदायों के बीच वैमनस्य की भावना पैदा के आरोप में आईटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया था। इस मामले में वीडियो बनाने वाले आरोपित संतोष को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। एसएसपी ने शहरियों से अपील की है कि किसी भी प्रकार का आपत्तिजनक या भड़काऊ पोस्ट सोशल मीडिया पर अपलोड न करें। अन्यथा ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस संबंध में आरोपित अरूण पाठक ने सोशल मीडिया के जरिये कहा कि नेपाल के प्रधानमंत्री ओली का बयान बचकाना और निंदनीय है। ओली को पता है कि अयोध्या कहां है, लेकिन ओली चीन के इशारों पर नाचने वाली कठपुतली बन गए हैं और भारत विरोधी घृणित कार्य कर रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर/दीपक-hindusthansamachar.in