महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा के लिए ‘उत्तर प्रदेश सिक्योरिटी फोर्स‘  का गठन
महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा के लिए ‘उत्तर प्रदेश सिक्योरिटी फोर्स‘ का गठन
उत्तर-प्रदेश

महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा के लिए ‘उत्तर प्रदेश सिक्योरिटी फोर्स‘ का गठन

news

लखनऊ, 30 जुलाई (हि.स.)। प्रदेश सरकार ने राज्य के महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा व्यवस्था प्रोफेशनल तरीके से किए जाने के लिए ‘उत्तर प्रदेश सिक्योरिटी फोर्स‘ का गठन करने का निर्णय लिया है। यह फोर्स उच्च कोटि की व्यासायिक दक्षता से सुरक्षा सम्बन्धी कार्यों का निर्वहन करेगा। साथ ही अपने व्यावसायिक कौशल से राज्य के लिए आय अर्जन की भी क्षमता रखेगा, जिससे राज्य सरकार के राजस्व में वृद्धि हो सकें। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने गुरुवार को यह बताया कि महाराष्ट्र, उड़ीसा आदि राज्यों सरकारी व अर्द्ध सरकारी कार्यालय, महत्वपूर्ण प्रतिष्ठान, वित्तीय संस्थानों, धार्मिक संस्थान, शैक्षणिक, चिकित्सा सांस्कृति संस्थानों की सुरक्षा के इस प्रकार के विशेषज्ञ बल की व्यवस्था की गयी है। अन्य राज्यों की गठित वाइटल इंस्टालेशन फोर्स की भांति ‘उत्तर प्रदेश सिक्योरिटी फोर्स‘ के नाम गठित होने वाले इस बल में महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों आदि की सुरक्षा आवश्यकताओं की दृष्टिगत विशेष रुप से प्रशिक्षित कर्मी तैनात किये जायेंगे। राज्य मंत्रिपरिषद से भी इस प्रस्ताव को मंजदूरी प्रदान की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि किसी निकाय या किसी व्यक्ति अथवा राज्य सरकार द्वारा किसी नाम, नामावली या श्रेणी द्वारा अधिसूचित उनके आवासीय परिसर, उच्च न्यायालय इलाहाबाद एवं लखनऊ खण्डपीठ, जिला न्यायालयों, राज्य सरकार द्वारा अधिसूचित कोई अन्य न्यायालय प्रशासनिक कार्यालय परिसर, पूजा स्थलों, मैट्रो रेल, हवाई अड्डों, बैंक अन्य वित्तीय संस्थाओं औद्योगिक उपक्रमों और इसे प्रयोजनार्थ राज्य सरकार द्वारा अधिसूचित कोई अन्य प्रतिष्ठानों या अधिष्ठानों एवं महत्वपूर्ण संस्थानों की उत्तम संस्था तथा सुरक्षा व्यवस्था के लिए यह बल कार्य करेगा। इसे नये बल के गठन के फल स्वरुप जहां एक और महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा अधिक प्रभावी ढंग से किया जाना संभव हो सकेगा। वहीं, अभी तक वर्तमान समय में इस कार्य में लने वाले पुलिस एवं पीएसी बल का नये बल के गठन के बाद राज्य की कानून व्यवस्था को और बेहतर बनाने एवं अपराध स्थिति पर नियंत्रण किया जा सकेगा। साथ ही इसके गठन के फलस्वरुप रोजगार के नये अवसर भी सृजित होंगे। उन्होंने बताया कि प्रथम चरण में उत्तर प्रदेश सुरक्षा बल की पांच वाहिनियां गठित की जानी है। इनके लिए आरम्भिक स्तर पर पीएसी वाहिनियों के परिसर एवं भवन उपयोग में लाये जायेंगे। इस फोर्स में पदों के सृजन व भर्ती आदि की कार्रवाई नियमनुसर सम्पन्न करायी जायेगी। हिन्दुस्थान समाचार/दीपक-hindusthansamachar.in