कोरोना महामारी से निपटने में उप्र मॉडल सबसे अच्छा, प्रयागराज की रिकवरी सबसे अच्छी : जलशक्ति मंत्री

कोरोना महामारी से निपटने में उप्र मॉडल सबसे अच्छा, प्रयागराज की रिकवरी सबसे अच्छी : जलशक्ति मंत्री
uttar-pradesh-model-best-in-dealing-with-corona-epidemic-prayagraj39s-recovery-best-waterpower-minister

प्रयागराज, 22 मई (हि.स.)। सदी की सबसे बड़ी महामारी से निपटने में देश के सभी प्रदेशों से उत्तर प्रदेश अच्छी तरह से निपटने में कामयाबी हासिल की। डब्लूएचओ एवं नीति आयोग ने भी उप्र माडल की सराहना की है। रिकवरी रेट, मृत्यु दर एवं वैक्सिनेशन में सबसे अच्छी भूमिका निभाई है। उक्त बातें शनिवार को आईसीसी कोविड कमाण्ड सेन्टर माघ मेला क्षेत्र में निरीक्षण के बाद पत्रकारों से वार्ता करते हुए जलशक्ति मंत्री डॉ.महेन्द्र सिंह ने कहा। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्देशन में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संक्रमित होने के बावजूद कोविड महामारी के दूसरी लहर को रोकने के लिए लगातार प्रयास करते रहे। प्रदेश की जनता एवं प्रशासन अधिकारियों के सतत प्रयास से रोकने में कामयाब हो गए। अब बड़ी राहत की खबर है कि मृत्यु दर 1.1 प्रतिशत और रिकवरी रेट 9.53 प्रतिशत है। 30 अप्रैल से पूर्व अशंकाए जताई जा रही थी कि देश में एक लाख से अधिक लोगों की जाने जाएगी और इसे संभालना मुश्किल हो जाएगा। लेकिन सतत प्रयास से आशंकाओं को दूर करने में पूरी तरह से देश एवं उत्तर प्रदेश पूरी तरह से कामयाब साबित हुआ है। अब तक 4 करोड़ 62 टेस्ट किये जा चुके है। टेस्टिंग जारी है। ऑक्सीजन आपूर्ति, रेमिडेसिविर एवं परीक्षण उत्तर प्रदेश में सबसे अधिक किये गए। प्रदेश में वर्तमान में 35 ऑक्सीजन प्लाण्ट चल रहे हैं और 300 ऑक्सीजन प्लांट बनाए जा रहे है। प्रदेश में कोविड पर नियंत्रण पाने में प्रयागराज की भूमिका सबसे अच्छी रही। प्रयागराज कोविड कमाण्ड सेन्टर से रेमिडेसिविर, दवा, ऑक्सीजन की सप्लाई के लिए लगातार पीड़ित मरीजों तक पहुंचाया जा रहा है। जहां प्रशासनिक अधिकारी, डाक्टर, निगरानी समितियों का पूरा सहयोग मिलता रहा है। आरटीपीएसआर जांच के वगैर भी दवा दी जा रही है। यहां 20 हजार पैकेट वितरण किया जा रहा है। वैक्सीनेशन सेन्टर बहुत अच्छी तरह से संचालित किया जा रहा है। प्रयागराज में 330 वेन्टीलेटर मशीने हैं। प्रदेश में टेस्टिंग के मामले में भी सबसे अच्छा है। प्रयागराज में 108 केस आज आए है। प्रदेश में 14 हजार टेस्ट किये गए। 9.5 प्रतिशत रोगियों में घटोत्तरी हो रही है। मंत्री ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू के दौरान रेहड़ी पटरी दुकानदारों नाई, मोची, सहित अन्य छोटे कारोबारियों को जीविका चलाने के लिए एक हजार रूपए दिये जाएंगे। प्रदेश के प्रत्येक जनपद में पत्रकारों के लिए वैक्सीनेशन के लिए योजना शुरू कर दी गई है। उन्होंने कहा कि तीसरी वेब के लिए प्रत्येक जिले में बच्चों के उपचार के लिए ऑक्सीजन युक्त 50-50 बेड के कोविड सेन्टर बनाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। केन्द्र व राज्य सरकार जीवन बचाने के साथ ही जीविका भी चलती रहे इसकी पूरी तैयारी कर रही है। हिन्दुस्थान समाचार/राम बहादुर/विद्या कान्त

अन्य खबरें

No stories found.