उपजा ने मुख्यमंत्री योगी से की पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने की मांग
उपजा ने मुख्यमंत्री योगी से की पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने की मांग
उत्तर-प्रदेश

उपजा ने मुख्यमंत्री योगी से की पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने की मांग

news

-पत्रकारों की हत्या व उत्पीड़न के खिलाफ उपजा ने जिलाधिकारियों को सौंपा ज्ञापन लखनऊ, 24 जुलाई (हि.स.)। उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन (उपजा) ने पत्रकारों की हत्या, उनके दमन, उत्पीड़न और हमलों की घटनाओं के खिलाफ शुक्रवार को राज्य के कई जनपदों के जिलाधिकारियों को ज्ञापन सौंपा। इन ज्ञापनों के माध्यम से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से पत्रकारों की सुरक्षा के लिए सार्थक कानूनी प्राविधानों सहित पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने की मांग की गई है। उपजा के प्रान्तीय अध्यक्ष रतन कुमार दीक्षित ने बताया कि संगठन की प्रयागराज, रायबरेली, सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, अम्बेडकरनगर, फिरोजाबाद, गाजीपुर, महोबा, जालौन, आगरा, हमीरपुर, अमेठी सहित एक दर्जन से अधिक इकाइयों ने आज अपने-अपने जनपदों के माध्यम से पत्रकारों के दमन, उत्पीड़न, हमलों और हत्याओं के खिलाफ जिलाधिकारियों के माध्यम से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ज्ञापन सौंपा। उन्होंने बताया कि ज्ञापनों के द्वारा पत्रकारों की सुरक्षा पर चिन्ता जतायी गई और प्रदेश में पत्रकारों की सुरक्षा के लिए सार्थक कानूनी प्राविधानों सहित पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने की मांग की गई है। श्री दीक्षित ने मुख्यमंत्री योगी से मांग की है कि प्रदेश में पत्रकारों की सुरक्षा हेतु राज्य के समस्त प्रशासनिक अधिकारियों और पुलिस अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए पत्रकार सुरक्षा कानून के प्राविधान आगामी विधानसभा सत्र में निर्माण करने का निर्णय लें। उपजा के प्रान्तीय अध्यक्ष ने बताया कि उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में पत्रकार विक्रम जोशी और मध्यप्रदेश के निवाड़ी में पत्रकार सुनील तिवारी की हत्या के खिलाफ इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ जर्नलिस्ट्स से संबंद्ध नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स-इंडिया और दिल्ली जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन ने नई दिल्ली में प्रेस क्लब से प्रधानमंत्री कार्यालय तक आज मार्च निकाला। इस दौरान संघटनों की तरफ से पत्रकार सुरक्षा कानून, मीडिया काउंसिल और मीडिया कमीशन के गठन के साथ ही पत्रकारों का उत्पीड़न, जबरन छंटनी, वेतन में कटौती और छोटे और मध्यम अखबारों की समस्याओं को दूर करने की मांग की गई। हिन्दुस्थान समाचार/ पीएन द्विवेदी/राजेश-hindusthansamachar.in