यूपी की यूनिवर्सिटियों में ऑनलाइन अनापत्ति एवं सम्बद्धता प्रस्तावों के निस्तारण को संशोधित समय-सारिणी जारी

यूपी की यूनिवर्सिटियों में ऑनलाइन अनापत्ति एवं सम्बद्धता प्रस्तावों के निस्तारण को संशोधित समय-सारिणी जारी

लखनऊ। उच्च शिक्षा के क्षेत्र में बीएड पाठ्यक्रम के अतिरिक्त नये महाविद्यालयों/संस्थानों के खोले जाने तथा वर्तमान महाविद्यालयों/संस्थाओं में स्नातक/स्नातकोत्तर स्तर के अतिरिक्त विषयों/ पाठ्यक्रम को प्रारम्भ करने हेतु (शैक्षिक सत्र 2021-22 के लिये) सम्बद्धता प्रस्तावों के निस्तारण के संबंध में सचिव उच्च शिक्षा शमीम अहमद खान ने कुलपति समस्त राज्य विश्वविद्यालय, निदेशक उच्च शिक्षा, उ0प्र0 प्रयागराज तथा कुलसचिव समस्त राज्य विश्वविद्यालय को पत्र प्रेषित किया है।

उन्होंने बताया कि विभिन्न शासनादेश के द्वारा उच्च शिक्षा के क्षेत्र में बी0एड0 पाठ्यकम के अतिरिक्त नये महाविद्यालयों/संस्थानों के खोले जाने तथा वर्तमान महाविद्यालयों/संस्थानों में स्नातक/ स्नातकोत्तर स्तर के अतिरिक्त विषयों/पाठ्यक्रमों को प्रारम्भ करने हेतु शैक्षिक शिक्षा सत्र 2021-22 के लिये उ0प्र0 राज्य विश्वविद्यालयों द्वारा ऑनलाइन अनापत्ति एवं सम्बद्धता प्रस्तावों के निस्तारण हेतु समय-सारिणी निर्धारित की गयी है।

सचिव उच्च शिक्षा ने बताया कि शैक्षिक सत्र-2021-22 में उच्च शिक्षा के विस्तार हेतु विशेष परिस्थिति में उत्तर प्रदेश राज्य विश्वविद्यालयों द्वारा ऑनलाइन अनापत्ति एवं सम्बद्धता के प्रस्तावों के निस्तारण हेतु शासन द्वारा सम्यक् विचारोंपरान्त संशोधित समय-सारिणी निर्धारित की गयी है। संशोधित समय-सारिणी के अनुसार अनापत्ति आदेश ऑनलाइन निर्गत किए जाने तथा संस्था द्वारा निरीक्षण मण्डल गठन हेतु आवेदन प्राप्त कर निरीक्षण मण्डल का गठन किए जाने तिथि 30 सितम्बर, 2021 तय की गई है। 04 अक्टूबर, 2021 तक निरीक्षण मण्डल द्वारा निरीक्षण आख्या का प्रस्तुत किया जायेगा। विश्वविद्यालय द्वारा सम्बद्धता ऑनलाइन प्रदान करने की अन्तिम तिथि 07 अक्टूबर, 2021 तक तय की गयी है। शासन में अपील करने की अन्तिम तिथि 09 अक्टूबर, 2021 तक तथा शासन स्तर पर अपील निस्तारित करने की अन्तिम तिथि 11 अक्टूबर, 2021 तक है।

सचिव उच्च शिक्षा ने बताया कि समस्त कुलपति, राज्य विश्वविद्यालय, उत्तर प्रदेश द्वारा प्रक्रिया की सुचिता एवं पारदर्शिता सुनिश्चित करने के साथ ही संबंधित महाविद्यालय से कार्ययोजना भी प्राप्त करेंगे कि महाविद्यालय प्रथम सेमेस्टर के लिए निर्धारित 90 शिक्षण दिवस किस प्रकार (ऑनलाइन तथा ऑन कैम्पस मोड को मिलाते हुए) पूर्ण करेंगे ताकि शासनादेश द्वारा जारी किये गये शैक्षिक कैलेन्डर के अनुरूप मिड-टर्म एवं सेमेस्टर परीक्षायें समय से सम्पन्न करायी जा सकें।

Related Stories

No stories found.