उप्र : पूर्वांचल में ऑक्सीजन की कमी से मिलेगी राहत, 40 मैट्रिक टन की आपूर्ति

उप्र : पूर्वांचल में ऑक्सीजन की कमी से मिलेगी राहत, 40 मैट्रिक टन की आपूर्ति
up-relief-from-lack-of-oxygen-in-purvanchal-supply-of-40-metric-tons

- दुर्गापुर से 40 मैट्रिक टन ऑक्सीजन ट्रेन के जरिए पहुंची - वाराणसी, मिर्जापुर, अजमगढ़ और भदोही के साथ डीआरडीओ अस्पताल को होगी आपूर्ति भदोही, 07 मई (हि.स.)। कोविड-19 संक्रमण से जूझ रहे पूर्वांचल के जिलों के लिए ऑक्सीजन को लेकर शुक्रवार को राहत की खबर आयीं है। सब कुछ ठीक रहा तो जल्द ही ऑक्सीजन की कमी को पूरा किया जा सकता है। जिले के माधोसिंह रेलवे स्टेशन पर दुर्गापुर से 40 मैट्रिक टन ऑक्सीजन ट्रेन के जरिए पहुंची है। यहां से उसे रिफिल केंद्रों पर भेजा जाएगा। पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर से आयीं ऑक्सीजन से भदोही समेत पूर्वांचल के अन्य जिलों में सप्लाई होनी है। ऑक्सीजन की बड़ी खेप के पहुंचने से कोविड के मरीजों को बड़ा लाभ मिलेगा। पूर्वांचल के कई जिलों में ऑक्सीजन की समस्या को दूर करने के लिए 40 मैट्रिक टन ऑक्सीजन मंगाई गई है। माधोसिंह रेलवे स्टेशन पर ऑक्सीजन लेकर जब ट्रेन पहुंची तो पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए थे। पुलिस के साथ ही रेलवे और जिला प्रशासन के अधिकारी भी मौजूद रहे। ऑक्सीजन की जो बड़ी खेप माधोसिंह रेलवे स्टेशन पर पहुंची है उसे टैंकर के माध्यम से अन्य जिलों के रिफलिंग प्लांटों पर भेजा जाएगा। सहायक आयुक्त औषधि, वाराणसी केजी गुप्ता ने बताया कि 40 मैट्रिक टन ऑक्सीजन में 20 मैट्रिक टन ऑक्सीजन वाराणसी, 10 मैट्रिक भदोही मिर्जापुर, 10 मैट्रिक टन आजमगढ़ भेजी जानी है। इसके डीआरडीओ 350 बेड का कोविड अस्पताल तैयार कर रहा है बाकि की ऑक्सीजन वहां भी जाएगी। उन्होंने बताया कि ऑक्सीजन आने का सिलसिला जारी रहेगा। उम्मीद है की पूर्वांचल में ऑक्सीजन की कमी से मरीजों और परिजनों को राहत मिल सकती है। हिन्दुस्थान समाचार /प्रभुनाथ/दीपक