up-former-minister-bhagwati-singh-died-donated-organs-in-medical-college
up-former-minister-bhagwati-singh-died-donated-organs-in-medical-college
उत्तर-प्रदेश

उप्र : पूर्व मंत्री भगवती सिंह का निधन, मेडिकल कॉलेज में कर चुके थे अंग दान

news

लखनऊ, 04 अप्रैल (हि.स.)। समाजवादी चिंतक व उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री भगवती सिंह (89) का रविवार सुबह निधन हो गया। बक्शी का तालाब स्थित चंद्रभानु गुप्त कृषि एवं प्रद्योगिकी महाविद्यालय में शनिवार को रात्रि प्रवास कर रहे थे। वहीं पर उनका रविवार सुबह निधन हुआ। उन्होंने अपने शरीर के अंगदान मेडिकल कॉलेज को किया था। इसलिए आगे का कार्यक्रम बाद में जारी किया जाएगा। बाबूजी का पार्थिव शरीर रिवर बैंक कॉलोनी स्थित आवास पर पहुंच चुका है। जहां अपराह्न 1:00 बजे तक अंतिम दर्शन प्राप्त किये जा सकते हैं। इसके उपरांत बाबूजी के शरीर केजीएमयू को सौंपने की प्रकिया होगी। दिवंगत आत्मा को सद्गति और शोकाकुल परिवारीजनों को साहस मिले, ऐसी प्रभु से प्रार्थना है। अखिलेश यादव ने व्यक्त किया शोक, निरस्त किया प्रेसवार्ता समाजवादी पार्टी सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्य, पूर्व सांसद एवं पूर्व मंत्री भगवती सिंह के निधन पर दुखद व्यक्त किया। श्री यादव ने भावभीनी श्रद्धांजलि देते हुए रविवार को होने वाली महत्वपूर्ण प्रेस वार्ता को निरस्त कर दिया है। उन्होंने अपने ट्वीटर हैंडल पर लिखा- 'शोकाकुल परिजनों के प्रति संवेदना! ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति एवं शोक संतप्त परिजनों को इस दुख की घड़ी में संबल प्रदान करे। भावभीनी श्रद्धांजलि!' मजदूरों व किसानों के लिए किया आंदोलन प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के बाबूजी बेहद करीबी माने जाते थे। उन्होंने मजदूरों और किसानों को हक दिलाने की लिए अनेकों बार आंदोलन किया। उन्होंने डॉ. राम मनोहर लोहिया और राजनारायण जैसी शख्सियतों के साथ बैठकर राजनीति सीखी थी। वर्ष 1977 में पहली बार महोना से विधायक बनने पर आवास विकास मंत्री बने थे। 1985 में विधायक,1990 में कैबिनेट में खेलकूद युवा कल्याण मंत्री, 1990 में सदस्य विधान परिषद,1993 में वन मंत्री,1998 में पुन: सदस्य विधान परिषद, 2003 में बाह्य सहायतित परियोजना मंत्री, तथा नेता सदन बने, वर्ष 2004 में राज्यसभा सदस्य बनाये गए। वरिष्ठ समाजवादी नेता भगवती सिंह द्वारा पौराणिक तीर्थ स्थल चंद्रिका देवी मंदिर का विकास कराया गया, बख्शी का तालाब तहसील की स्थापना कराई गई। उच्च शिक्षा के क्षेत्र में उन्होंने चंद्र भानु गुप्ता कृषि महाविद्यालय की स्थापना भी की। हिन्दुस्थान समाचार/दीपक