up-finance-minister-announces-39self-reliant-farmers-integrated-development-scheme39
up-finance-minister-announces-39self-reliant-farmers-integrated-development-scheme39
उत्तर-प्रदेश

उप्र : वित्त मंत्री ने की 'आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना' की घोषणा

news

-बजट में योजना के लिए 100 करोड़ का किया गया प्रावधान लखनऊ, 22 फरवरी (हि.स.)। प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने सोमवार को विधानसभा में 5 लाख 50 हजार 270 करोड़ 78 लाख रुपये का बजट पेश किया है। वह सदन में अपना बजट भाषण दे रहे हैं। बजट में सरकार ने किसानों का खास ध्यान रखा है। 'आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना' की शुरुआत से लेकर किसानों के किसानों को मुफ्त पानी और रियायती दरों पर फसली ऋण उपलब्ध कराने के लिए अनुदान को लेकर व्यवस्था की गई है। इसके अलावा महिलाओं को लेकर भी कई अहम घोषणाएं की गई हैं। देश के चौमुखी विकास को उप्र का होगा विशेष व महत्वपूर्ण योगदान वित्त मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश 2021-22 के बजट का केन्द्र बिन्दु उत्तर प्रदेश के समग्र एवं समावेशी विकास करते हुए उत्तर प्रदेश के विभिन्न वर्गों का स्वावलंबन से सशक्तिकरण एवं आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश है। देश के चौमुखी विकास के लिए उत्तर प्रदेश का विशेष एवं महत्वपूर्ण योगदान होगा। 05 लाख 50 हजार 270 करोड़ 78 लाख के आकार का वित्तीय वर्ष 2021-22 बजट उत्तर प्रदेश का समग्र विकास सुनिश्चित करने तथा राज्य की अर्थव्यवस्था को 01 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। प्रदेश सरकार राज्य के किसानों की आय को दोगुना करने के लिए कृतसंकल्पित है। इसी क्रम में वित्तीय वर्ष 2021-22 से आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना संचालित की जाएगी। इस योजना के क्रियान्वयन के लिए 100 करोड़ का प्रावधान किया गया है। प्रदेश के किसानों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से प्रारंभ की गई मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना के अंतर्गत 600 करोड़ की धनराशि प्रस्तावित की गई है।वित्तीय वर्ष 2021-22 में प्रदेश के किसानों को मुफ्त पानी की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए 700 करोड़ का प्रावधान किया गया है। वहीं, किसानों को रियायती दरों पर फसली ऋण उपलब्ध कराए जाने के लिए अनुदान के लिए 400 करोड़ की धनराशि प्रस्तावित है। महिलाओं को लेकर नई योजनाओं की होगी शुरुआत महिलाओं एवं बच्चों में कुपोषण की समस्या के निदान के लिए मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना वित्तीय वर्ष 2021-22 से क्रियान्वित की जाएगी। इस योजना के लिए बजट में 100 करोड़ की व्यवस्था की गई है। महिलाओं का आर्थिक स्वावलंबन सुनिश्चित करने के लिए वित्तीय वर्ष 2021-22 से महिला सामर्थ्य योजना का संचालन किया जाएगा। इस नई योजना के लिए इसके लिए 200 करोड़ की धनराशि प्रस्तावित की गई है। राज्य की महिलाओं के उत्थान के लिए समर्पित उत्तर प्रदेश सरकार ने वित्तीय वर्ष 2021-22 में मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना को और परिष्कृत कर लागू करने का निर्णय किया है। विधान मंडल क्षेत्रों के विकास कार्यों को लेकर 2,000 करोड़ का इंतजाम वित्तीय बजट 2021-22 में विधान मंडल क्षेत्रों के विकास कार्यों के लिए मंडल क्षेत्र विकास निधि के लिए 2,000 करोड़ की धनराशि प्रस्तावित की गई है। वहीं ग्रामीण भू-स्वामियों को स्थायी व निरंतर आय का स्रोत प्रदान करने हेतु प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2021-22 में 15,000 सोलर पम्प की स्थापना का लक्ष्य रखा गया है। हिन्दुस्थान समाचार/संजय

AD
AD