Three girls who ran away from home to realize their dreams were found safe
Three girls who ran away from home to realize their dreams were found safe
उत्तर-प्रदेश

सपनों को साकार करने के लिए घर से भागी तीन लड़कियां सकुशल बरामद

news

जौनपुर 14 जनवरी (हि.स.)। खुटहन के एक गांव में बीते सोमवार को स्कूल के जाने की बात कहकर तीन लड़कियां घर से निकली। वापस नहीं लौटने पर परिवार गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी। चार दिन बाद सर्विलांस की मदद से पुलिस ने घर से भागी तीन लड़कियों को नोएडा यमुना एक्सप्रेसवे पर सफर के दौरान एक बस से सकुशल बरामद कर लिया है। लड़कियों को पुलिस ने परिजनों के सुपुर्द कर दिया है। पुलिस अधीक्षक राजकरन नैय्यर ने बताया कि मंगलवार रात 10 बजे खुटहन थाने को सूचना मिली कि तीन लड़कियां स्कूल जाने के लिए निकली थी जो अभी तक घर नहीं पहुंची हैं। मामले की गंभीरता को लेते हुए तत्काल मुकदमा दर्ज जांच की गई। इस दौरान पता चला कि एक लड़की को उसकी बहन के द्वारा लॉकडॉउन के दौरान मोबाइल दिलाया गया था। उस मोबाइल नम्बर पर जब जांच पड़ताल की गई तो पता चला कि यह मोबाइल बुधवार की लगभग रात 10ः30 बजे कानपुर में लोकेशन दिखा रहा है और तत्काल बंद भी हो गया। इसके बाद हमने एक टीम कानपुर के लिए रवाना किया। साथ ही पूरी रात इनके सभी स्कूलों के संबंधी और रिश्तेदारो से पूछताछ की। गुरुवार सुबह यह नम्बर दोबारा सात बजे आगरा में ऑन हुआ था। इस पर मेरे द्वारा आगरा से आगे जितने भी थाने थे सभी से बातचीत की गई और उसे कहा गया कि सभी गाड़ियों की तलाशी ली जाये। नोएडा पुलिस की टीम ने नोएडा यमुना एक्सप्रेसवे पर बस की तलाशी के दौरान इन लड़कियों को सकुशल बरामद कर लिया। पूछताछ में तीनों लड़कियों ने बताया गया कि मुम्बई एक मॉडल शहर है। वहां जाकर वे अपने सपनों को साकार कर सकती है। गांव में माता-पिता के बंदिशों में अपने सपनों का गलां नहीं घोंट सकती है। पढ़ाई के लिए दबाव बना रहे है, वो जो बनना चाहती है उन्हें बनने नहीं दिया जा रहा है। इस वजह से उन्होंने स्कूल के बहाने घर से भाग गयी थी। एसपी ने की अपील पुलिस अधीक्षक ने सभी अभिभावकों से अपील भी किया कि जो लोग अपने बच्चों को स्मार्टफोन दे रहे हैं। उनकी निगरानी भी रखें। कही वो बच्चे मोबाइल के जरिए किसी गलत संगत में तो नहीं फंस रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/विश्व प्रकाश/दीपक-hindusthansamachar.in