संविधान निर्माता का ऋणी रहेगा ये राष्ट्र : विभाग प्रचारक

संविधान निर्माता का ऋणी रहेगा ये राष्ट्र : विभाग प्रचारक
this-nation-will-be-indebted-to-the-creator-of-the-constitution-department-pracharak

- संघ कार्यालय पर जोरशोर से मनाई गई अम्बेडकर जयंती - अम्बेडकर का जीवन चरित्र अनुकरणीय : दिनेश मथुरा, 14 अप्रैल (हि.स.)। विभाग प्रचारक गोविंद ने कहा कि वंचितों और पिछड़ों के उत्थान के लिए उन्होंने अपना समस्त जीवन होम कर दिया आज भी यह कृतज्ञ राष्ट्र उनके कर्तत्व का ऋणी है। यह बात बुधवार डा. भीमराव अम्बेडकर जयंती पर केशव भवन पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान कही। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग कार्यालय केशव भवन पर बुधवार अम्बेडकर जयंती मनाई गई। यहां स्वयंसेवकों के मध्य धर्म जागरण के प्रांत प्रमुख दिनेश ने डॉ भीमराव अम्बेडकर की तस्वीर पर माल्यार्पण किया, एवं विभाग प्रचारक गिविंद ने उनकी तस्वीर पर पुष्प अर्पित किये एवं समरसता का मंत्र महान गीत गाया। स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए प्रान्त प्रमुख दिनेश ने बताया कि डॉ अम्बेडकर का प्रारम्भिक जीवन बहुत कष्ट और अभावों से परिपूर्ण था उसके पश्चात भी उन्होंने अपनी योग्यता और क्षमता के बल पर समस्त उपलब्धियां हासिल की, वास्तव में गुदड़ी के लाल कहावत को चरितार्थ करने वाला अगर कोई चरित्र सामने आता है तो वो पूज्य बाबा साहब अम्बेडकर का ही है। अपने जीवन में आये अनेक झंझावातों से जूझते हुए उन्होंने इस राष्ट्र के संविधान को बनाने में अपना सम्पूर्ण योगदान दिया। ये रहे जयंती पर मौजूद डॉ संजय, रामजीलाल, श्रीराम, अनुभव, पवन, नंदू, शिवकुमार, कैलाश, अमित, जितेंद्र, चन्द्रभान, रणवीर, अनिल, पुरुषोत्तम, मनीष, दौजी, कन्हैया, नितिन, राजकुमार धर्मेन्द्र, मनोज अजय, आयुष, दिलीप, गौरव, कृष्णा, मोहन, धर्मपाल, ब्रजेश, अम्बरीष, जगदीश आदि उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/महेश