अवध विश्वविद्यालय के पुस्तकालयाध्यक्ष की पत्नी डाॅ. सुनीता सिंह का निधन

अवध विश्वविद्यालय के पुस्तकालयाध्यक्ष की पत्नी डाॅ. सुनीता सिंह का निधन
the-wife-of-the-librarian-of-avadh-university-dr-sunita-singh-passed-away

अयोध्या, 28 अप्रैल (हि.स.)। डाॅ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय में महामना मदन मोहन मालवीय केन्द्रीय पुस्तकालय के पुस्तकालयाध्यक्ष डॉ. आर.के. सिंह की पत्नी डॉ. सुनीता सिंह के आकस्मिक निधन पर बुधवार को शोक सभा की गई। डाॅ. सुनीता विश्वविद्यालय के पुस्तकालय एवं सूचना विज्ञान में अतिथि प्रवक्ता के पद पर कार्यरत थी। उनके एक बेटा एवं एक बेटी है। वे दो दिन से दर्शननगर हाॅस्पिटल में भर्ती थी। डा सिंह का आज प्रातः तीन बजे देहांत हो गया। इसकी सूचना मिलते ही विश्वविद्यालय परिवार शोकाकुल हो गया। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रविशंकर सिंह ने दिवंगत आत्मा की शांति एवं परिवार को कष्ट सहन करने की शक्ति देने के लिए प्रार्थना की। शोक-सभा में विश्वविद्यालय के कुलसचिव उमानाथ, प्रो. नीलम पाठक, प्रो. अशोक शुक्ल, प्रो. एसएन शुक्ल, प्रो. आशुतोष सिन्हा, प्रो. जसवंत सिंह, प्रो. हिमांशु शेखर सिंह, प्रो. विनोद श्रीवास्तव, प्रो. शैलेन्द्र कुमार, डाॅ. विजयेन्दु चतुर्वेदी, डाॅ. शशि कला सिंह, डाॅ. सुधीर श्रीवास्तव, डाॅ. मुकेश वर्मा, इंजीनियर मनीषा यादव, इंजीनियर निधि अस्थाना, इंजीनियर परिमल तिवारी, डाॅ. अनुराग पाण्डेय, डाॅ. मिथिलेश तिवारी, डाॅ. निमिष मिश्र, डाॅ. अनिल विश्वा, गिरीश पंत सहित शिक्षक एवं कर्मचारी शामिल रहे। अवध विश्वविद्यालय के पुस्तकालय विज्ञान के विभागाध्यक्ष गुरु वशिष्ट सेवा न्यास के कोषाध्यक्ष प्रोफेसर आरके सिंह की धर्मपत्नी एवं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा संचालित सरस्वती बालिका विद्या मंदिर के प्रबंध समिति की अध्यक्ष, भारतीय शिक्षण मंडल अवध प्रांत की महिला प्रकल्प की सह प्रभारी, गुरु वशिष्ठ गुरुकुल की संरक्षिका डॉ सुनीता सिंह के कोविड-19 से बीती रात हुए निधन के समाचार से संघ परिवार में शोक की लहर व्याप्त हो गई। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक भारतीय शिक्षण मंडल के राष्ट्रीय संगठन मंत्री मुकुल कानिटकर, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आचार्य मनोज दीक्षित, राष्ट्रीय सह कोश प्रमुख उत्तर प्रदेश के प्रभारी देवेंद्र पवार, भारतीय शिक्षण मंडल महिला प्रकल्प की राष्ट्रीय सह प्रमुख अरुंधति कावड़कर ,शैक्षिक प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय सह प्रभारी डॉ दिलीप सिंह, गुरु वशिष्ठ गुरुकुल के सह प्रबंधक आदर्श सिंह ऋषभ, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के महानगर प्रचारक अनिल , महानगर संघ चालक मुकेश तोलानी, अयोध्या के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय, विद्या भारती से चलने वाले के प्रधानाचार्य बृजेश नारायण सिंह ,राम बहादुर सिंह, ओमप्रकाश तिवारी ,अवनी कुमार शुक्ला सहित विश्व हिंदू परिषद, संत समाज ,राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ सहित विभिन्न अनुषांगिक संगठनों ने सुनीता सिंह के निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए उस परिवार को इस अपार कष्ट को सहन करने की शक्ति प्रदान करने के लिए भगवान से प्रार्थना की। गुरु वशिष्ठ गुरुकुल के निदेशक डॉ दिलीप सिंह ने बताया श्रीमती सुनीता सिंह गुरु वशिष्ठ गुरुकुल में अध्ययन कर रहे प्रत्येक बच्चे के जन्म दिवस पर मिष्ठान केक कपड़े लेकर अवश्य पहुंचती थी। गुरुकुल के बच्चों को किस चीज की आवश्यकता है उसका हमेशा ध्यान रखती थी। प्रत्येक बच्चे को मां जैसा ममत्त्व देने के कारण सभी बच्चे उनके गुरुकुल आने का इंतजार करते थे। प्रात: काल के समय जब बच्चों को सुनीता सिंह के ना रहने का समाचार प्राप्त हुआ। संपूर्ण गुरुकुल में सन्नाटा छा गया। कई बच्चों ने दोपहर का भोजन भी नहीं किया। अपने शोक संदेश में भारतीय शिक्षण मंडल के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रोफ़ेसर सच्चिदानंद जोशी एवं राष्ट्रीय संगठन मंत्री मुकुल कानिटकर ने सुनीता सिंह के निधन को संगठन के लिए अपूरणीय क्षति बताते हुए कहा की गुरुकुल ने अपना एक बड़ा शुभचिंतक एवं छात्रों ने ने एक मां को खो दिया। हिन्दुस्थान समाचार / पवन