40 मीट्रिक टन लिक्विड ऑक्सीजन लेकर वाराणसी पहुंची ट्रेन

40 मीट्रिक टन लिक्विड ऑक्सीजन लेकर वाराणसी पहुंची ट्रेन
the-train-reached-varanasi-with-40-metric-tons-of-liquid-oxygen

वाराणसी, 07 मई (हि.स.)। कोरोना संकट काल में वाराणसी के अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन के संकट के समाधान और इसके सुचारू रूप से आपूर्ति के लिए जिला प्रशासन के साथ पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन भी लगातार प्रयासरत है। ऑक्सीजन एक्सप्रेस शुक्रवार को झारखंड के दुर्गापुर से 40 मीट्रिक टन लिक्विड ऑक्सीजन लेकर भदोही जनपद के माधोसिंह स्टेशन पहुंची। पूर्वोत्तर रेलवे के मंडल रेल प्रबंधक विजय कुमार पंजियार ने अफसरों के साथ माधोसिंह स्टेशन पर लिक्विड ऑक्सीजन लोडेड ऑक्सीजन एक्सप्रेस के अनलोडिंग प्रक्रिया की निगरानी की। वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक वाराणसी मंडल की देख-रेख में मंडुवाडीह-माधोसिंह रेल खण्ड को ग्रीन कॉरिडोर बनाकर ऑक्सीजन एक्सप्रेस का निर्बाध संचालन किया गया। वाराणसी जंक्शन पहुंची ट्रेन 53 मिनट में माधोसिंह स्टेशन की दूरी तय की। रेलवे के अफसरों के अनुसार इस दौरान मंड़ुवाडीह-माधोपुर रेलखंड के सभी स्टेशनों पर हाई एलर्ट रहा। टैंकर को अनलोड कराने के बाद ट्रेन पुनः दुर्गापुर लौट गई। यहां से टैंकर वाराणसी प्लांट पर लाया गया। आक्सीजन को वाराणसी के अलावा पूर्वांचल के अन्य जिलों में भी भेजा जा रहा है। अस्पतालों में बेड की व्यवस्था को लेकर जिला प्रशासन सजग वाराणसी के कोविड अस्पतालों में बेड की व्यवस्था को लेकर जिला प्रशासन सजग है। जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने शुक्रवार को चौका घाट स्थित राजकीय आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज के अस्पताल का निरीक्षण किया। अस्पताल में कोविड मरीजों के इलाज के लिए उपलब्ध बेड, किचन, शौचालय आदि की जानकारी ली। बताया गया कि इस अस्पताल में तीनों तल पर प्राइवेट एवं जनरल वार्ड मिलाकर कुल 184 बेड विभिन्न वार्डों में उपलब्ध हैं। जिलाधिकारी के अनुसार, अस्पताल को और बेड उपलब्ध कराते हुए 200 बेड का कोविड अस्पताल चालू करने की कार्यवाही शुरू की जा रही है। इसके लिए यहां लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट बनाने के साथ आवश्यक उपकरण, ऑक्सीजन सिलेंडर आदि की व्यवस्था हो रही है। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर/विद्या कान्त