औचक निरीक्षण : लोगों में सहयोग की भाव जगाएं, जिम्मेदारी भी निभाएं अधिकारी-कर्मचारी

औचक निरीक्षण : लोगों में सहयोग की भाव जगाएं, जिम्मेदारी भी निभाएं अधिकारी-कर्मचारी
surprising-inspection-awaken-the-sense-of-cooperation-among-the-people-should-also-carry-the-responsibility

गोरखपुर, 13 मई (हि.स.)। कोविड-19 नियंत्रण में अनेक दिक्कतें आ रहीं हैं। कहीं से दवाओं का टोटा है तो कहीं इनकी कालाबाजारी ने लोगों को परेशान कर रखा है। सरकारी-प्राइवेट अस्पतालों में होने वाली असुविधाओं की शिकायतें भी आ रहीं हैं। ऐसे में गुरुवार को एडीजी जोन अखिल कुमार ने बाबा राघवदास (बीआरडी) मेडिकल कॉलेज का औचक निरीक्षण कर सच्चाई जाना। कहा, लोगों को एक-दूसरे के सहयोग के लिए प्रेरित करें। खुद भी मदद में आगे रहें। लापरवाही किसी भी दशा में क्षम्य नहीं है। कोरोना संक्रमण महामारी की दूसरी लहर में चारों ओर परेशान हैं। शासन-प्रशासन द्वारा कोविड-19 मरीजों को बेहतर सुविधा उपलब्ध करवाने का प्रयास जारी है। बवाजजूद इसके अपनी जेब व अपना भला करने वाले समाज के दुश्मन कोविड-19 से परेशान मरीजों को अपनी ठगी का शिकार बना रहे हैं। इस तरह की शिकायतों को ध्यान में रखते हुए एडीजी जोन अखिल कुमार ने गुरुवार को यह औचक निरीक्षण किया। पुलिस अधीक्षक उत्तरी मनोज कुमार अवस्थी, पुलिस अधीक्षक नगर सोनम कुमार, क्षेत्राधिकारी चौरीचौरा कुलदीप तिवारी आदि के साथ बीआरडी पहुंचे एडीजी जोन अखिल कुमार ने कोविड वार्ड में सूक्ष्मता से निरीक्षण किया। अस्पताल के स्वास्थ्य संबंधी अन्य स्थानों का निरीक्षण कर संबंधित अधिकारियों को दिशा निर्देश भी दिया। बता दें कि कुछ जगहों से शिकायतें मिल रही थीं कि अस्पतालों में ऑक्सीजन सिलेंडर व अन्य स्वास्थ्य सुविधाएं मरीजों को नहीं उपलब्ध हो पा रही हैं। इसी को संज्ञान में लेते हुए एडीजी जोन ने सहयोगियों के साथ बीआरडी मेडिकल कॉलेज के सुपर स्पेशलिस्ट वार्ड व विभिन्न वार्डों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने चिकित्सकों व अधिकारियों को दिशा निर्देश देते हुए कहा कि हर मरीज को सभी सुविधाएं मिलनी चाहिए। अगर किसी मरीज को कोई असुविधा होती है और शिकायतें मिलतीं हैं तो संबंधित के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। संबंधित अधिकारियों को निर्देश देते हुए एडीजी जोन अखिल कुमार ने कहा कि इस आपदा काल में अधिकारी मानवता का परिचय दें। हर व्यक्ति को यथा संभव मदद पहुंचने की कोशिश करें। लोगों को यह बताएं कि एक दूसरे की मदद करें। इससे समस्याएं सुलझाने में आसानी होगी। कोरोना संक्रमित मरीजों व उनके परिजनों को सहयोग मिलने से आपदा से जल्दी छुटकारा मिल सकेगा। हिन्दुस्थान समाचार/आमोद

अन्य खबरें

No stories found.