नवनिर्वाचित पंचायत प्रतिनिधि कोरोना के खिलाफ जारी जंग में सरकार का करें सहयोग - मंडलायुक्त

 नवनिर्वाचित पंचायत प्रतिनिधि कोरोना के खिलाफ जारी जंग में सरकार का करें सहयोग - मंडलायुक्त
support-the-government-in-the-ongoing-war-against-newly-elected-panchayat-representative-corona---mandalayukta

-कोरोना की रोकथाम को मंडलायुक्त की अनोखी पहल बनी चर्चा का विषय चित्रकूट,04 मई (हि. स.)। मंडलायुक्त दिनेश कुमार सिंह ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जीत का परचम लहराने वाले प्रधानों, बीडीसी और जिला पंचायत सदस्यों से अपने-अपने गांवों और क्षेत्र को कोरोना के संक्रमण से सुरक्षित करने में पूरी ताकत और संकल्प के साथ जुटने की अपील की है। मंगलवार को नवनिर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों से अपील जारी करते हुए चित्रकूट धाम मंडल बांदा के आयुक्त दिनेश कुमार सिंह ने कहा की पंचायत के चुनाव की मतगणना समाप्त हो चुकी है जो लोग प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य, बीडीसी या जिला पंचायत सदस्य के पद के लिए निर्वाचित हुए हैं वह सब अपने गांव को कोरोना के संक्रमण से सुरक्षित करने में पूरी ताकत के साथ और संकल्प के साथ जुटे। सलाह दी कि यह समय जीत का जश्न मनाने का नहीं बल्कि अपने गांव को कोरोना के संक्रमण से बचाने और लोगों कै जीवन को सुरक्षित करने का है। उन्होंने कहा कि इसके लिये यह ध्यान दें कि प्रतिदिन निगरानी समिति गांव में भ्रमण करें। इसमें आशा के पास थर्मामीटर और पल्स ऑक्सीमीटर जरूर हो। निगरानी समिति प्रत्येक घर में जाए और घर के सदस्यों से वार्ता करें। कोरोना के कोई लक्षण हो तो तत्काल आइसोलेट करें। दवा देकर उनका इलाज किया जाए । आयुक्त ने कहा कि जांच में यदि टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आता है तो गंभीर होने की दशा में कोविड अस्पताल में तत्काल भर्ती करायें।सामान्य दशा में होम आइसोलेशन में रह करके इलाज हो। गांव की प्रतिदिन साफ-सफाई उच्च कोटि की हो और सैनिटाईजेशन हो। जिन घरों में कोरोना के मरीज हो वह आईसोलेशन में हों, उन घरों में गांव पंचायत की तरफ से प्रत्येक दिन सैनिटाइजेशन हो और कंटेनमेंट एरिया के नियमों का पालन किया जाये। गांव के लोग घरों के बाहर मास्क लगाकर के ही निकले। गांव में कहीं भीड़ ना हो। अगर कहीं दो चार लोग बैठे तो दो गज की दूरी और मास्क का पालन हो। अपने हाथों को सैनेटाइज भी करते रहें। अपील में मंडलायुक्त ने कहा कि सभी सुनिश्चित करें की किसी को थोड़े से भी लक्षण है तो छुपाएं नहीं और लापरवाही ना हो, तुरंत उसका सूची में नाम दर्ज हो। उसका टेस्ट हो। अगर पॉजिटिव हो तो उसका इलाज तत्काल शुरू हो। जितनी जल्दी इलाज शुरू होगा उतना ही उस व्यक्ति के लिए अच्छा रहेगा। बाहर से आये व्यक्ति को रखे क्वारेंटाइन में आयुक्त ने सचेत किया की गांव में अगर बाहर से कोई व्यक्ति आया है तो वह क्वारेंटाइन में रहे। उसको गांव के विद्यालय में सात दिन तक रखा जाए और वह घर पर ना आए ना गांव के अंदर। इसके बाद सात दिन तक अगर वह स्वस्थ रहता है तो वह अपने घर आ सकता है। अगर आपने ऐसा सुनिश्चित कर लिया तो आपका गांव कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित रहेगा। बनाया गया कंट्रोम रूम उन्होंने बताया की मंडल के प्रत्येक जिले में जिलाधिकारियों के नेतृत्व में इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल रूम बनाया गया है। कोरोना से संबंधित किसी भी समस्या के लिए आप इस कंट्रोल रूम में संपर्क कर सकते हैं। यह 24 घंटे काम कर रहे हैं। बांदा जिले के लिए यह नंबर है 0519 –222 1624 ,222 1625 ,222 1626 222 1627, 222 1628, 2221 629,। हमीरपुर के लिए 052 82-222330,224543,224542,225491, महोबा जिले के लिए 05281-254901,254902,297939,297940) चित्रकूट जिले के लिए 8765473613,8765473609,05198-235425,05198-298090 मंडलायुक्त ने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के निर्देशानुसार 5 मई से 9 मई तक घर-घर सर्वेक्षण चिनहीकरण टेस्टिंग और दवा देने का भी कार्य होगा। हिन्दुस्थान समाचार/रतन