बरेका में सफल आंशिक कुल्हा प्रत्यारोपण, मरीज 24 घण्टे बाद खड़ा हो गया

बरेका में सफल आंशिक कुल्हा प्रत्यारोपण, मरीज 24 घण्टे बाद खड़ा हो गया
Successful partial ax transplant in Barreka, patient standing up after 24 hours

वाराणसी,15 जनवरी (हि.स.)। बनारस रेल इंजन कारखाना के अस्पताल में पहली बार शुक्रवार को एक वयोवृद्ध सेवानिवृत कर्मी का आंशिक कुल्हा प्रत्यारोपण सफल रहा। मरीज भी आपरेशन के 24 घंटे बाद जब खड़ा हो गया तो चिकित्सकों और कर्मचारियों में खुशी की लहर दौड़ गई। महाप्रबंधक अंजली गोयल को इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने शल्य किया में शामिल टीम और नर्सिंग स्टाफ को बधाई दी और स्वास्थ्य ढ़ाचे के आधुनिकरण के लिए प्रतिबद्धता भी बताई। रेलवे डिज़ाइन विभाग के रिटायर्ड कर्मचारी 85 वर्षीय रघुबीर सिंह यादव का कुल्हा अचानक टूट गया। परिजन उन्हें लेकर रेलवे के अस्पताल में पहुंचे। कर्मचारी के पुत्र मुख्य डिपो सामग्री सुपरिटेंडेंट विनोद यादव ने जांच कराया तो पता चला कि मरीज के फेफड़े और हृदय में गड़बड़ी की वजह से ऑपरेशन के दौरान जान को खतरा है। रेलवे अस्पताल में हाई टेक आधुनिक कार्डियक अनेस्थेसिया स्टेशन मशीन की स्थापना की गई। परिजनों ने मरीज के जीवन पर छाये खतरे के बावजूद शल्य क्रिया की अनुमति दी। अनेस्थेसिया टीम के इंचार्ज डॉ. विशाल मिश्रा व अस्थि शल्य विशेषज्ञ डॉ. कर्म राज सिंह व रेलवे ऑर्थो सर्जन डॉ. अमित गुप्ता की टीम ने सहायकों के साथ इस जटिल संरचना शल्य व आंशिक कुल्हा प्रत्यारोपण को सफलता पूर्वक अंजाम दिया। आपरेशन के बाद मरीज 24 घण्टे बाद खड़ा हो गया और चलने योग्य भी। आपरेशन की सफलता बनारस रेल इंजन कारखाना हॉस्पिटल की एक बड़ी उपलब्धि मानी जा रही है। मरीज के परिजनों ने भी चिकित्सकीय टीम और मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ सुजीत मल्लिक, अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ सुनील कुमार का आभार जताया। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर/दीपक-hindusthansamachar.in