students-protest-against-the-demand-to-open-bhu-campus-completely
students-protest-against-the-demand-to-open-bhu-campus-completely
उत्तर-प्रदेश

बीएचयू परिसर को पूरी तरह खोलने की मांग को लेकर छात्रों ने दिया धरना

news

वाराणसी, 22 फरवरी (हि.स.)। कोरोना काल में लगभग 11 माह तक बंद रहा काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) सोमवार से खुल गया। विश्वविद्यालय खुलते ही लंका स्थित मुख्य द्वार पर छात्रों का एक गुट धरने पर बैठ गया। धरने में शामिल छात्र पूरी तरह परिसर खोलने की मांग कर नारेबाजी करने लगे। छात्रों के प्रदर्शन की जानकारी पर डिप्टी चीफ प्रॉक्टर प्रो. बीसी कापड़ी प्राक्टोरियल बोर्ड के अफसरों और जवानों के साथ मौके पर पहुंचे और छात्रों को समझाया। लेकिन धरना में शामिल छात्र अपनी मांगों को लेकर जिद पर अड़े रहे। उनका कहना था कि विश्वविद्यालय प्रशासन जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं करता, उनका आंदोलन जारी रहेगा। स्नातक/ स्नातकोत्तर प्रथम और दूसरे वर्ष के छात्र धरने में शामिल है। प्रदर्शन में शामिल छात्र विपुल सिंह ने मीडिया कर्मियों से बातचीत में कहा कि यूजीसी की गाइडलाइंस के अनुसार बीएचयू परिसर अब तक पूर्ण रूप से खुल जाना चाहिए। जनपद में ही सभी महाविद्यालय खुल चुके हैं। लेकिन बीएचयू परिसर अभी तक पुरा नहीं खुल सका है। विश्ववविद्यालय प्रशासन ने पहले घोषित भी किया था कि 22 फरवरी से चरणबद्ध तरीके से परिसर को खोला जाएगा। इसके पहले विश्वविद्यालय के वेबसाइट पर इसकी जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी। लेकिन वेबसाइट पर कक्षाएं चलने की समय सारिणी अभी तक अपलोड नहीं हुईं हैं। उधर, 11 माह बाद विश्वविद्यालय खुल गया है। अन्तिम वर्ष के छात्रों के लिए कक्षाएं संचालित हुई है। कक्षाएं आफलाइन व आनलाइन दोनों मोड़ में संचालित होंगी। स्मार्ट क्लास रूम की व्यवस्था की गई है। विश्वविद्यालय प्रशासन के अफसरों के अनुसार कोविड-19 से सुरक्षा को देखते हुए हैंड सैनिटाइजर और मास्क को अनिवार्य किया गया है। कक्षाओं को विसंक्रमित करने का भी नियम बनाया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर/दीपक