सोनू सूद बोले, कल के भारत की नई तस्वीर है कुशीनगर की यशिका

सोनू सूद बोले, कल के भारत की नई तस्वीर है कुशीनगर की यशिका
sonu-sood-said-the-new-picture-of-tomorrow39s-india-is-the-yashika-of-kushinagar

-माता पिता ने बेटी के जन्मदिन पर प्राप्त उपहार कर दिए सोनू को दान कुशीनगर, 08 जून (हि.स.)। कुशीनगर के यशिका की पहली वर्षगाँठ 06 जून को थी। उसको उपहार के रूप में रिश्तेदारों से दस हजार रुपए मिले। यशिका के माता- पिता ने यह रुपए अभिनेता सोनू सूद के फाउंडेशन को दान कर दिए। जिससे यह रुपए देश के कोविड-19 पीड़ित परिवारों के काम आए। सोनू सूद ने ट्वीट कर यशिका को कल के नए भारत की तस्वीर बताया है, बोले कि गर्व है ऐसे माता पिता पर। यशिका के पिता गिरजेश मद्देशिया उर्फ नन्दू कसया प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के सामने मोबाइल शाप की दुकान है। इनका पूरा परिवार सोनू सूद का जबरजस्त फैन है। गत वर्ष कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान से ही परिवार सोनू सूद का मुरीद हो गया। वे बताते हैं कि पलायन के दौरान लोगों को बस, ट्रेन या जहाज से घर छोड़ने की बात हो या हास्पिटल में ऑक्सीजन के लिए उम्मीद लगाये लोग, इस महामारी में केवल एक ही इंसान सोनू सूद का नाम समवेत रूप से लोगों की जुबान पर रह। सोनू से प्रेरणा लेकर दम्पति योगदान देने की इच्छा मन में पाले था। इसी दौरान यशिका का प्रथम जन्मदिन पर मेहमान व रिश्तेदारों ने यशिका को उपहार दिए। प्राप्त उपहार में दस हजार की धनराशि को परिवार ने सोनू सूद फाउंडेशन को दान कर दिए। दम्पति पर्यावरण संरक्षण के लिए नगर के सार्वजनिक स्थानों पर खुद के खर्चों पर डस्टबिन रखवाने के लिए और नोटबंदी के दौरान हजारों लोगों को बैंक की लाइनों के इतर अपने खाते में अंतरण कर नकद देने के लिए भी ख्याति बटोर चुके हैं। बातचीत में गिरिजेश ने बताया कि लोगों की मदद कर जो आत्मिक खुशी मिलती है, उसे व्यक्त करना सरल नहींं है। हिन्दुस्थान समाचार/गोपाल/विद्या कान्त