बलिया में कराया गया सीरो सर्वे, देखा जाएगा एंटीबॉडी का प्रतिशत

बलिया में कराया गया सीरो सर्वे, देखा जाएगा एंटीबॉडी का प्रतिशत
sero-survey-conducted-in-ballia-percentage-of-antibodies-will-be-seen

- केजीएमयू भेजे गए 744 सैम्पल, जांची जाएगी एंटीबॉडी - 13 टीमों के जरिए जिले में 31 जगहों पर किया गया सर्वे बलिया, 08 जून (हि.स.)। कोरोना की दूसरी लहर नीचे आने के बाद जिले में कितने प्रतिशत लोगों में एंटीबॉडी बनी है। इसका पता लगाने के लिए सीरो सर्वे कराया गया है। 31 जगहों से लिए 744 सैंपल लखनऊ स्थित केजीएमयू भेजे गए हैं। कोविड 19 के प्रसार को देखते हुए लोगों में प्रतिरोधक क्षमता के आकलन के लिए जनपद में सीरो सर्विलांस कार्य चार जून से छह जून तक चला। सीएमओ डा.राजेन्द्र प्रसाद ने बताया कि कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण का फैलाव और संक्रमण का स्तर इस सर्वे के माध्यम से पता लगाया जायेगा। इस दौरान कुल 744 रैंडम सैंपल लिए गए थे। एंटीबॉडी का पता लगाने के लिए यह रक्त के नमूने लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) भेजे गए। इसके परिणाम से कोरोना की रोकथाम के लिए आगामी योजना बनायी जाएगी। सीएमओ बताया कि जिला प्रशासन के सहयोग से जिले में 31 साइट्स का चयन किया गया था, जिसमें तीन शहरी व 28 ग्रामीण थे। यह सर्वे 13 टीमों के माध्यम से सम्पन्न हुआ। हर टीम में चार सदस्य एक मेडिकल ऑफिसर, एक लैब टेक्नीशियन, एक एएनएम और एक आशा कार्यकर्ता थी। हर टीम अपने क्षेत्र के चिन्हित ग्राम को चार भागों में बांट कर प्रत्येक तीन घरों को चयनित कर छह सैंपल लिए गए। यह नमूने व्यक्ति की लिखित सहमति के बाद ही लिए गए। सीएमओ ने बताया सीरो सर्वे के माध्यम से यह पता लगाया जाता है कि कितनी आबादी कोरोना से संक्रमित हुई है और कितने प्रतिशत लोगों में एंटीबॉडी विकसित हुई है। लोगों के शरीर से खून लेकर उसकी जांच की जाती है जिससे शरीर में कोरोना वायरस से लड़ने वाले एंटीबॉडी का पता लगाया जाता है। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज