सीनियर वकीलों ने बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के चलते फोटो एफिडेविट सेन्टर बंद करने को चीफ जस्टिस से की मांग

सीनियर वकीलों ने बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के चलते फोटो  एफिडेविट सेन्टर बंद करने को चीफ जस्टिस से की मांग
senior-lawyers-demand-chief-justice-to-close-photo-affidavit-center-due-to-growing-corona-infection

प्रयागराज, 24 मार्च (हि.स.)। इलाहाबाद हाईकोर्ट के फोटो एफिडेविट सेंटर पर वादकारियों की उमड़ रही भारी भीड़ कोरोना संक्रमण को और भयावह रूप दे सकती है। वहां लगने वाली लंबी कतारों से न सिर्फ सोशल डिस्टेसिंग के नियम तार-तार हो रहे हैं, बल्कि प्रदेश भर से आने वाले वादकारियों की वजह से संक्रमण के तेजी से फैलने का अंदेशा है। इसे देखते हुए हाईकोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ताओं ने मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखकर सेंटर कम से कम एक माह के लिए बंद किए जाने की मांग की है। वरिष्ठ अधिवक्ता विजय गौतम, अशोक मेहता, राहुल श्रीपत, अमित सक्सेना, अनिल भूषण, वीरेश मिश्र, प्रमोद जैन, दिनेश गोस्वामी, शिवनाथ सिंह यादव और धर्मेद्र सिंघल आदि ने हाईकोर्ट को भेजे पत्र में कहा है कि फोटो एफिडेविट सेंटर जिस तरह से काम कर रहा है उससे संक्रमण फैलने का गंभीर खतरा बना हुआ है। सेंटर पर वादकारियों की हजारों की संख्या में भीड़ हो रही है। इनकी लंबी कतारों में सोशल डिस्टेंसिग को लेकर जारी गाइड लाइन का पालन नहीं हो पा रहा है। हाल ही में संक्रमण के फिर से तेजी पकड़ने को देखते हुए यह खतरा और अधिक हो गया है। इसलिए हाईकोर्ट के वकीलों, कर्मचारियों और वादकारियों के हित को देखते हुए सेंटर को कम से कम एक माह के लिए फिर से बंद किया जाना आवश्यक है। मालूम हो कि हाईकोर्ट के फोटो एफिडेविट सेंटर पर मुकदमा दाखिल करने वाले वादकारियों को अपना फोटो खिंचवाने के लिए आना होता है। गत वर्ष कोरोना संक्रमण के कारण इस सेंटर को पूरे वर्ष बंद रखा गया था। चीफ जस्टिस के आदेश से एक मार्च से हाईकोर्ट ने फोटो एफिडेविट सेंटर सहित पूरे हाईकोर्ट के कामकाज को कोरोना काल के पूर्व की स्थिति में संचालित करने का निर्देश दिया। फोटो एफिडेविट सेंटर भी खोलने का आदेश दिया गया। करीब एक साल बाद सेंटर खुलने के बाद वादकारियों की भारी भीड़ उमड़ रही है। जिसकी वजह से हजारों वादकारियों को फोटो खिंचवाने के लिए लंबी कतारों में खड़ा होना पड़ रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/आर.एन

अन्य खबरें

No stories found.