register-all-the-laborers-working-in-mnrega-by-15-march---commissioner
register-all-the-laborers-working-in-mnrega-by-15-march---commissioner
उत्तर-प्रदेश

मनरेगा में कार्य करने वाले सभी श्रमिकों का पंजीकरण 15 मार्च तक करायें - आयुक्त

news

बांदा, 22 फरवरी (हि.स.)। 15 मार्च तक अभियान चलाकर मनरेगा में 90 दिन कार्य करने वाले सभी श्रमिकों का पंजीकरण कराया जाए। इस कार्य में पंचायत सचिवों का सहयोग प्राप्त किया जाए और श्रम विभाग द्वारा विकास खण्ड स्तर पर कैम्प लगाकर अधिक से अधिक श्रमिकों का पंजीयन कराया जाए।आयुक्त चित्रकूटधाम मण्डल बांदा दिनेश कुमार सिंह ने उपरोक्त निर्देश श्रम विभाग की योजनाओं की समीक्षा के दौरान आयुक्त कार्यालय में दिये। बैठक में आयुक्त ने निर्देश दिये कि श्री सिंह ने कहा कि जो भी श्रमिक किसी भी निर्माण कार्य में लगे हैं वे अपना पंजीकरण जन सेवा केन्द्र के माध्यम से श्रम विभाग में अवश्य करा लें जिससे योजनाओं का लाभ उन्हें प्राप्त हो सके। आयुक्त ने निर्देश दिये कि जिन श्रमिकों ने अभी तक पंजीकरण कराया है उनका प्रति वर्ष नवीनीकरण कराया जाए। समीक्षा में पाया गया कि इस वित्तीय वर्ष में श्रम विभाग द्वारा 71,584 श्रमिकों को विभिन्न योजनाओं में लाभ प्रदान कराया गया तथा इन श्रमिकों को 29 करोड़ 32 लाख रूपये से अधिक की सहायता प्रदान की गयी। आयुक्त ने निर्देश दिये कि सभी वंचित श्रमिकों का अभियान चलाकर पंजीकरण कराया जाए जिससे इन्हें शासन की योजनााओं का लाभ प्र्राप्त हो सके। उन्होंने संत रविदास शिक्षा सहायता योजना के अन्तर्गत अब तक मण्डल में मात्र 164 श्रमिकों के बच्चों को सहायता दिये जाने पर नाराजगी व्यक्त की तथा निर्देश दिये कि श्रमिकों के जो बच्चे कक्षा-9, 10, 11 तथा 12 पास कर चुके हैं तथा अध्ययनरत हैं, ऐसे अधिक से अधिक विद्यार्थियों को लाभ प्रदान कराया जाए तथा इस कार्य में विभिन्न विद्यालयों के प्रधानाचार्यों का सहयोग प्राप्त किया जाए। श्री सिंह ने कहा कि इसी प्रकार मातृत्व, शिशु व बालिका मदद योजना में अधिक से अधिक मजदूरों को लाभ प्रदान कराया जाए। उन्होंने बताया कि मातृत्व, शिशु व बालिका मदद योजना के अन्तर्गत शासन द्वारा श्रमिक के लडकी पैदा होने पर 25 हजार रूपये तथा लडका पैदा होने पर 20 हजार रूपये की सहायता प्रदान की जाती है। आयुक्त ने श्रम विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि कन्या विवाह सहायता योजना के अन्तर्गत अधिक से अधिक श्रमिकों की पुत्रियों के विवाह हेतु सहायता प्रदान करायी जाए। इस योजना के अन्तर्गत शासन द्वारा 55 हजार रूपये की सहायता प्रदान की जाती है। इस योजना के अन्तर्गत मण्डल में 309 श्रमिकों को लाभ प्रदान कराया गया है। उन्होंने कहा कि जो श्रमिक प्रधानमंत्री आवास योजना से वंचित हों उन्हें श्रम विभाग से संचालित आवास योजना का लाभ प्रदान कराया जाए। श्री सिंह ने निर्देश दिये कि श्रमिकों की कार्यस्थल पर मृत्यु अथवा विकलांगता की स्थिति में उन्हें अवश्य लाभ प्रदान कराया जाए। समीक्षा में पाया गया कि इस योजना के अन्तर्गत मण्डल में 44 श्रमिकों को लाभ प्रदान कराया गया है। आयुक्त ने निर्देश दिये कि श्रम विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के पम्पलेट व पोस्टर ग्राम पंचायत अधिकारियोें को उपलब्ध कराये जायें जिससे इन योजनाओं का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार हो सके और श्रमिक इन योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकें। समीक्षा में पाया गया कि निर्माण कामगार अत्येष्टि सहायता योजना के अन्तर्गत मण्डल में 42 लोगों को लाभ प्राप्त हुआ है। इस योजना के अन्तर्गत शासन द्वारा 25 हजार रूपये की सहायता प्रदान की जाती है। बैठक में अपर आयुक्त चन्द्र्रशेखर, उपायुक्त श्रम राजीव कुमार सिंह, उप निदेशक सूचना भूपेंन्द्र सिंह यादव, जिला श्रम प्रवर्तन अधिकारी बांदा महेन्द्र कुमार शुक्ला, श्रम प्रवर्तन अधिकारी चित्रकूट दुष्यन्त कुमार, जिला श्रम प्रवर्तन अधिकारी हमीरपुर अरूण कुमार तिवारी, जिला श्रम प्रवर्तन अधिकारी महोबा अतुुल कुमार श्रीवास्तव इत्यादि अधिकारी उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/अनिल

AD
AD