राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन ने ट्विटर पर ब्याज समेत गन्ना भुगतान का मुद्दा उठाया
राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन ने ट्विटर पर ब्याज समेत गन्ना भुगतान का मुद्दा उठाया
उत्तर-प्रदेश

राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन ने ट्विटर पर ब्याज समेत गन्ना भुगतान का मुद्दा उठाया

news

नजीबाबाद (बिजनौर), 27 जुलाई (हि.स.)। राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन ने ट्विटर पर ब्याज समेत गन्ना भुगतान का मुद्दा उठाया है। राष्ट्रीय मजदूर संगठन के नेता आदित्य चौधरी ने बताया कि अभी कुछ ही मंडलों एवं कुछ जिलों में आईटी सेल का गठन किया गया है। शीघ्र ही पूरे भारतवर्ष में प्रत्येक जनपद में जिला अध्यक्षों को नियुक्त कर जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। युवाओं में आईटी सेल को लेकर काफी रुझान दिखाई दे रहा है और आने वाले समय में पूरे भारतवर्ष से किसान पुत्र अपना हक ट्विटर के माध्यम से सरकार से मांगेंगे। जब तक किसान पुत्रों, मजदूर भाइयों को उनका हक नहीं मिल जाता तब तक राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन का संघर्ष जारी रहेगा। राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के युवा नेता हेमेंद्र कुमार कालदेव ने सोमवार को बताया कि किसान मजदूर संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सरदार वीएम के आह्वान पर राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन और किसानों ने 26 जुलाई को सोशल मीडिया में ट्विटर पर ब्याज गन्ना भुगतान की मांग की है। अपनी आवाज को सोशल मीडिया के जरिए मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री तक पहुंचाने का प्रयास किया है। जिला बिजनौर के युवाओं में इसको लेकर उत्साह दिखा 26 जुलाई को दोपहर से ही युवा अलग-अलग गांव में मंडली बना कर बैठे और 4 बजते ही ट्विटर पर ब्याज समेत गन्ना भुगतान की मांग को बहुत मजबूती से रखा, पूरे इंडिया में ब्याज समेत गन्ना भुगतान ट्विटर पर टॉप 30 में सातवें नंबर पर ट्रेंड करा। आईटी सेल के जिला अध्यक्ष अचल शर्मा का कहना हैं कि किसान ने यह बता दिया की किसान सिर्फ ट्रैक्टर ही नहीं अब ट्विटर भी चलाना सीख गया है। करोना किस काल में अगर हम आंदोलन नहीं कर सकते तो सोशल मीडिया के जरिए अपनी आवाज सरकार के कानों तक पहुंचा सकते हैं। सरकार ने चुनाव से पहले वादा किया था कि अगर हमारी सरकार बनी तो हम 14 दिन में गन्ना भुगतान कर आएंगे अगर ऐसा नहीं होता तो उस पर ब्याज मिलेगा। लेकिन हालात ऐसे हैं कोर्ट के आदेश के बाद भी सरकार मिल मालिको को ठंडा नहीं कर रही किसानों का कभी कई सौ करोड़ मिलो पर उधार पड़ा है किसान अपनी जीविका चलाने को कर्ज ले रहा है कर्ज पर ब्याज दे रहा है लेकिन सरकार किसान के गन्ना भुगतान पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे रही है। हिन्दुस्थान समाचार/रिहान अन्सारी-hindusthansamachar.in