जीवन को सुरक्षित रखते हुए पर्व की परम्परा का निर्वहन करना है रक्षा बंधन की मूल भावना : आनंदीबेन पटेल
जीवन को सुरक्षित रखते हुए पर्व की परम्परा का निर्वहन करना है रक्षा बंधन की मूल भावना : आनंदीबेन पटेल
उत्तर-प्रदेश

जीवन को सुरक्षित रखते हुए पर्व की परम्परा का निर्वहन करना है रक्षा बंधन की मूल भावना : आनंदीबेन पटेल

news

-राज्यपाल ने दी रक्षाबंधन की बधाई, की सुख, समृद्धि व आरोग्य की कामना लखनऊ, 02 अगस्त (हि.स.)। उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने रक्षाबंधन पर लोगों को बधाई देते हुए रविवार को कहा कि हमें स्वयं व अपने परिजनों के जीवन को सुरक्षित रखते हुए पर्वों की परम्परा का निर्वहन करना होगा, यही रक्षा बंधन पर्व की मूल भावना है। आनंदीबेन पटेल ने रक्षाबन्धन के पावन अवसर पर समस्त प्रदेशवासियों को हार्दिक शुभकानमाएं देते हुए उनकी सुख, समृद्धि एवं आरोग्य की कामना की है। राज्यपाल ने अपने बधाई सन्देश में कहा है कि भाई-बहन के प्रेम एवं रक्षा के वचन का यह पर्व पूरे देश में मनाया जाता है। वर्तमान समय में देश एवं दुनिया कोरोना जैसी महामारी से लड़ रहे हैं। इन परिस्थितियों में सभी लोग स्वस्थ एवं कुशल रहें एवं सेवाभाव से समाज, प्रदेश एवं राष्ट्र के साथ फिर से प्रगति की ओर अग्रसर हों। उन्होंने कहा कि हमें स्वयं तथा अपने परिजनों के जीवन को सुरक्षित रखते हुए पर्वों की परम्परा का निर्वहन करना होगा, यही रक्षाबंधन पर्व की मूल भावना भी है। हिन्दुस्थान समाचार/उपेन्द्र/दीपक-hindusthansamachar.in