पं. दीनदयाल उपाध्याय शोध पीठ आयोजित करेगा सात दिवसीय शोध क्षमता विकास कार्यक्रम

पं. दीनदयाल उपाध्याय शोध पीठ आयोजित करेगा सात दिवसीय शोध क्षमता विकास कार्यक्रम
pt-deendayal-upadhyaya-research-chair-will-conduct-a-seven-day-research-capacity-development-program

झांसी, 22 मई(हि.स.)। पं. दीनदयाल उपाध्याय शोध पीठ, बुंदेलखंड विश्वविद्यालय झांसी 05 जून से 11 जून तक ऑनलाइन शोध क्षमता विकास कार्यक्रम का आयोजन कर रहा है। इस कार्यक्रम में स्नातक, परास्नातक, शोधार्थी और शिक्षक सहभागिता कर सकते हैं। देश के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों के शिक्षक शोध क्षमता विकास में अपना योगदान देंगे। कार्यक्रम के आयोजक शोध पीठ के निदेशक डॉ मुन्ना तिवारी ने बताया कि शोध नए ज्ञान की खोज और स्थापित ज्ञान के मूल्यांकन के लिए बहुत जरूरी है। पं. दीनदयाल उपाध्याय शोध पीठ शोध क्षमता निर्माण एवं विकास के लिए निरंतर प्रयास करता रहता है। कार्यक्रम संयोजक डॉ श्वेता पांडेय ने बताया कि इस आयोजन में हिस्सा लेने के लिए प्रतिभागियों को पहले पंजीयन कराना होगा और प्रतिदिन साढ़े ग्यारह बजे से डेढ़ बजे तक जूम के माध्यम से जुड़ना होगा। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम यूजीसी, नेट,व जेआरएफ की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों, पीएचडी कर रहे शोधार्थियों, शोध में रुचि रखने वाले शिक्षकों एवं एनजीओ में काम कर रहे व्यक्तियों के लिए लाभदायक सिद्ध होगा। उन्होंने बताया कि इच्छुक प्रतिभागी 30 मई तक अपना पंजीयन करवा सकते हैं। इस कार्यक्रम में सहभागिता के लिए शुल्क विद्यार्थियों एवं शीधार्थियों के लिए 150 तथा शिक्षकों के लिए 200 रुपए रखा गया है। कार्यक्रम के आयोजनसचिव डॉ उमेशकुमार ने बतायाकि इस कार्यक्रममेंअधिक से अधिकलोगोंकोजोड़ने का प्रयासकियागयाहै।उन्होंनेबतायाकिअभीतकइसकेसंबंध मेंउत्तराखंड, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, हिमाचलप्रदेश, बिहार के विद्यार्थियोंऔरशिक्षकों के पंजीयनप्राप्तहुए हैं। डॉ कुमार ने बताया कि विषय विशेषज्ञ के रूप में हेमवती नन्दन बहुगुणा विश्वविद्यालय उत्तराखंड, मोहनलाल सुखाडिया विश्वविद्यालय राजस्थान, डॉ शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय लखनऊ, जामिया मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय नईदिल्ली, नार्थ ईस्ट हिल यूनिवर्सिटी,व नेशनल लॉ इंस्टीट्यूट यूनिवर्सिटी भोपाल के विषय विशेषज्ञों ने व्याख्यान के लिए अपनी स्वीकृति दी है। हिन्दुस्थान समाचार/महेश