राष्ट्रपति 22 जून को आ सकते हैं अपने गृह जनपद, चौपाल लगाकर सीडीओ ने ग्रामीणों का जाना हाल

राष्ट्रपति 22 जून को आ सकते हैं अपने गृह जनपद, चौपाल लगाकर सीडीओ ने ग्रामीणों का जाना हाल
president-can-come-to-his-home-district-on-june-22-cdo-knows-the-condition-of-villagers-by-putting-chaupal

कानपुर देहात, 07 जून (हि.स.)। जनपद के डेरापुर तहसील क्षेत्र अंतर्गत अपने परौख गांव में 22 जून को भारत के राष्ट्रपति के सम्भावित दौरे को लेकर जिला प्रशासन ने गांव में चौपाल लगाई। जिसमें ग्रामीणों को बताया गया कि परौख के इज्जत घर एक कलर में दिखेंगे और हर योजना के लाभार्थी के घर की दीवारों पर योजनाओं का नाम भी दर्ज होगा। परौख गांव में आगामी 22 जून को भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का सम्भावित दौरा हो सकता है। जिसको लेकर मुख्य विकास अधिकारी सौम्या पांडेय ने विभिन्न विभागों के अफसरों के साथ गांव में सोमवार को चौपाल सजाई। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि सभी विभाग अपनी टीम के साथ गांव का कायाकल्प करें। अधिकारियों से कहा कि यहां की शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली, सड़क आदि की व्यवस्थाओं को विभिन्न योजनाओं के माध्यम से बेहतर किया जाए। उन्होंने दौरे की तैयारियों के बारे में कहा कि जिलाधिकारी की अध्यक्षता में प्रतिदिन सभी विभागों के कार्यों की समीक्षा की जाएगी। जिला विकास अधिकारी, एडीएम प्रशासन, मुख्य विकास अधिकारी के साथ नोडल रहेंगे। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में पांच हजार लोगों के आने की आशंका जताई जा रही है। इसके लिए झलकारी बाई व खेत में सभा स्थल बनाया जायेगा। गांव में बनेंगे तीन हेलीपैड उन्होंने बताया कि गांव में अलग-अलग तीन हेलीपैड बनाए जाएंगे। इस दौरान कोई दिक्कत ना हो, इसे लेकर अफसर चौकन्ना भी रहेंगे। एक कलर से रंगे जाएंगे शौचालय इस मौके पर स्वच्छ भारत मिशन के तहत गांव में बने 726 शौचालयों को एक कलर से रंगाई-पुताई कर उसमें इज्जत घर लिखते हुए विभिन्न स्लोगन लिखे जाने के निर्देश दिए गए। वहीं शासन द्वारा जिन योजनाओं से लोगों को लाभान्वित किया गया है, उन योजनाओं के नाम व लाभार्थी का विवरण भी सम्बंधित स्थल पर लिखवाया जाएगा। सीडीओ ने ग्रामीणों की सुनी समस्या ग्रामीणों द्वारा मुख्य विकास अधिकारी को बताया गया कि गांव में अति कुपोषित कोई भी बच्चा नहीं है। जबकि 22 बच्चे कुपोषित श्रेणी के हैं जिन्हें ड्राई राशन आंगनवाड़ी के बच्चों को बांटा जा रहा है। वहीं स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना वायरस के मामले में 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को कोई टीकाकरण नहीं किया गया है। जबकि 45 से अधिक आयु वाले व्यक्तियों में प्राप्त संख्या के आधार पर 30 फीसदी टीकाकरण कराया गया। गांव में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नेफेड संस्था द्वारा बनाया जा रहा है इस मामले में एक करोड़ की धनराशि संबंधित कार्यदाई संस्था को उपलब्ध कराई जा चुकी है। गांव में 15 लोग कोरोना से संक्रमित हुए थे जो अब स्वस्थ हैं। निगरानी समिति के माध्यम से गांव में निगरानी बढ़ती जा रही है। कृषि विभाग द्वारा 945 किसानों को प्रधानमंत्री सम्मान निधि योजना का लाभ दिया जा रहा है जबकि 15 कृषक का अपात्र है। उद्यान विभाग द्वारा गांव में किचन गार्डन बनाया जाता। वहीं ग्रामीणों ने अवगत कराया कि प्राथमिक विद्यालय धौलपुर में जहां एक सहायक अध्यापक शिक्षण कार्य के लिए काभी समय से नहीं आते हैं। जबकि प्राथमिक विद्यालय में अवैध कब्जा भी है इसके साथ-साथ परौख एएनम सेंटर व सड़कों के किनारे गोबर के ढेर व जानवरों के बांधने आदि के मामले में एसडीएम को सीडीओ ने निस्तारण के निर्देश दिये। चौपाल में पीडी दिनेश यादव, डीडीओ गोरख नाथ, सीएमओ राजेश कटियार, कृषि उपनिदेशक विनोद यादव जिला प्रोवजन अधिकारी अभिषेक पांडेय लोक निर्माण प्रांतीय खण्ड प्रकाश चन्द्र, डीपीआरओ अनिल सिंह, जिला सूचना अधिकारी नरेंद्र मोहन आदि लोग मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार/अवनीश