बच्चों को मुख्य धारा से जोड़ने में अहम भूमिका निभाएंगे प्रेरणा सारथी

बच्चों को मुख्य धारा से जोड़ने में अहम भूमिका निभाएंगे प्रेरणा सारथी
prerna-charioteer-will-play-an-important-role-in-connecting-children-with-the-mainstream

उप शिक्षा निदेशक व प्राचार्य जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान ने की समीक्षा मीरजापुर, 09 जून (हि.स.)। मिशन प्रेरणा की ई-पाठशाला के तहत संचालित गतिविधियों की मेंटरिंग के सम्बंध में बीएसए, बीईओ, सहायक वित्त व लेखाधिकारी, डॉयट मेंटर्स, एसआरजी और एआरपी गूगल मीट से बैठक बुधवार को हुई। उप शिक्षा निदेशक व प्राचार्य जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान डॉ. फतेह बहादुर सिंह ने शुभारम्भ करते हुए बैठक की रूपरेखा का प्रस्तुतीकरण किया। कहा कि कोविड 19 के चलते स्कूल बंद चल रहे हैं। ऐसे में बच्चों को मुख्य धारा से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। इसमें प्रेरणा सारथी अहम भूमिका निभाएंगे। वरिष्ठ प्रवक्ता अमरनाथ सिंह, देवेंद्र स्वरूप सचान, प्रवक्ता संतोष कुमार ने प्रस्तुतीकरण बीईओ से समीक्षा एवं रिपोर्ट संकलन किया। डायट मेंटर में नीरज, नीलिमा, अंजना, नीलू, संजय सिंह, विनोद वर्मा ने विचार व्यक्त किया। इसके बाद बीएसए, टीम एसआरजी, डॉ. बृजेश सिंह खंड शिक्षा अधिकारी कोन, दिनेश चंद्र शुक्ल एवं सरिता तिवारी ने ई-मेंटरिंग के बिंदुओं पर प्रस्तुतिकरण किया। एआरपी अनिल तिवारी, दिनेश सिंह, प्रशांत गुप्ता ने प्रस्तुतीकरण व प्रश्न किया। खंड शिक्षा अधिकारी प्रदीप सिंह, विनोद मिश्र, राम मिलान यादव, शशांक शुक्ल आदि जुड़े रहे। डायट प्राचार्य ने बैठक में प्रेरणा लक्ष्य, सूची तालिका, फाउंडेशनल लिटरेसी एंड न्यूमरेसी तथा रिमेडियल टीचिंग, ई पाठशाला के तहत कैलेंडर के अनुसार प्रेषित कक्षावार विषयवार शैक्षणिक सामग्री पर चर्चा की। विभिन्न सामग्री मैथ्स किट, पोस्टर्स, लाइब्रेरी, टीचर्स फेसिंग मॉड्यूल, समृद्ध माड्यूल, क्रियान्वयन संदर्शिका की विद्यालयों पर उपलब्धता एवं उपयोग, दीक्षा एप्प, प्रेरणा लक्ष्य एप्प एवं रीडएलांग ऐप के डाउनलोड, उपयोग एवं प्रचार-प्रसार पर भी चर्चा की। बीईओ अरूण सिंह, आशुतोष तिवारी, प्रतिभा सिंह आदि ने स्कूल लीडरशिप मॉड्यूल पर चर्चा की। ई मेंटरिंग के दौरान विद्यालयों में कितने बच्चों ने ई पाठशाला के माध्यम से प्रेषित सामग्रियां, उपलब्ध सामग्रियों का उपयोग पर बल दिया। निर्देश दिया कि खंड शिक्षा अधिकारी, डायट मेंटर्स और एआरपी टीम के साथ अपने अपने विकास खंड की समीक्षा प्रस्तुत करेंगे। डायट मेंटर्स समीक्षा में अपने-अपने विकास खंड की सूचनाओं के साथ खंड शिक्षा अधिकारी का सहयोग करते हुए अपने पास भी सूचनाओं का संकलन रखेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/गिरजा शंकर/विद्या कान्त