प्रीति श्रीवास्तव की आवाज़ में बोलेंगी परिषदीय किताबों की कहानियां
प्रीति श्रीवास्तव की आवाज़ में बोलेंगी परिषदीय किताबों की कहानियां
उत्तर-प्रदेश

प्रीति श्रीवास्तव की आवाज़ में बोलेंगी परिषदीय किताबों की कहानियां

news

जौनपुर, 17 जुलाई (हि.स.)। अभी तक विद्यार्थियों ने किताबों में बहुत सी कहानियां पढ़ी होंगी, लेकिन अब परिषदीय स्कूलों के विद्यार्थी किताबों की कहानियां भी सुन सकेंगे। परिषदीय स्कूलों में पढ़ाई को रोचक बनाने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं। इसी अनूठी पहल के तहत राज्य शैक्षिक अनुसंधान केंद्र एससीईआरटी परिषदीय स्कूलों में कक्षा एक से आठ तक की किताबों की कहानियों को ऑडियो में कन्वर्ट कर रहा है। इसके लिए पूरे प्रदेश से 28 ऐसे टीचर सेलेक्ट किए गए हैं, जिन्होंने स्टेट लेवल पर आयोजित हुए कहानी सुनाओ प्रतियोगिता में प्रतिभाग किया था। यह सभी अध्यापक कहानियों को रिकॉर्ड करेंगे। इसमें जौनपुर की शिक्षिका प्रीति श्रीवास्तव का भी नाम है। जिनको प्राइमरी और जूनियर के चार अलग अलग चैप्टर की जिम्मेदारी मिली है। इन कहानियों को रिकॉर्ड करने के बाद दीक्षा एप पर अपलोड किया जाएगा। परिषदीय स्कूलों की किताबों में क्यू आर कोड है। जब ऐप पर क्यूआर कोड स्कैन किया जाएगा तो बच्चे पाठ्यक्रम में शामिल कहानियों को सुन सकेंगे। शुक्रवार को प्रीति श्रीवास्तव ने हिन्दुस्थान समाचार प्रतिनिधि से बात करते हुए बताया कि वो लास्ट ईयर आयोजित हुए स्टेट लेवल स्टोरी कंपटीशन की विनर रह चुकी हैं। उनका कहना है कि रोचक तरीके से बने कहानियों के ऑडियो को बच्चे बहुत चाव से सुनेंगे और उन्हें पढ़ाई करने में भी आसानी होगी। कहानी के रूप में सुनने से बच्चों के मन मस्तिष्क में चीजें जल्दी बैठ जाती हैं। सरकार द्वारा किया जा रहा यह कार्य अत्यंत सराहनीय है और बच्चों के लिए लाभप्रद भी है। हिन्दुस्थान समाचार/विश्व प्रकाश/विद्या कान्त-hindusthansamachar.in