रैपिड रेल में यात्रियों को मिलेगी आॅटोमेटिक फेयर कलेक्शन की सुविधा

रैपिड रेल में यात्रियों को मिलेगी आॅटोमेटिक फेयर कलेक्शन की सुविधा
passengers-will-get-the-facility-of-automatic-fare-collection-in-rapid-rail

गाजियाबद, 18 जून (हि.स.)। रैपिड रेल में सफर करने के लिए अत्याधुनिक आटोमेटिक फेयर कलेक्शन (एएफसी) सिस्टम की सुविधा दी जाएगी। जिससे यात्री के पास क्यूआर कोड टिकट का उपयोग करने का विकल्प होगा। जिसे एनसीआरटीसी मोबाइल ऐप या वेबसाइट की मदद से डिजिटल रूप में जेनरेट किया जा सकेगा। पेपर क्यूआर टिकट दो स्टेशनों के बीच यात्रा करेने के लिए, टिकट वेंडिंग मशीन और टिकट कार्यालय मशीनों से खरीदे जा सकेंगे। एनसीआरटीसी के प्रवक्ता पुनीत वत्स ने शुक्रवार को बताया कि एनसीआरटीसी क्यूआर कोड आधारित टिकटिंग (डिजिटल और पेपर क्यूआर) और ईएमवी (यूरोपे, मास्टरकार्ड, वीजा) ओपन लूप कॉन्टैक्ट लेस कार्ड का उपयोग करेगा, जो एनसीएमसी (नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड) मानकों पर आधारित है।यात्री देश के किसी भी मेट्रो या परिवहन प्राधिकरण या वित्तीय संस्थानों द्वारा जारी किए गए किसी भी एनसीएमसी कार्ड का आरआरटीएस यात्रा के लिए उपयोग करने में सक्षम होंगे। इस तरह यह सिस्टम अपने ऑपरेशन या परिचालन के पहले दिन से ही पूरी तरह ओपन लूप सिस्टम होगा। उन्होंने बताया कि एनसीआरटीसी ने पब्लिक प्राइवेट पार्टनर्शिप (पीपीपी) के आधार पर इस एएफसी प्रणाली की खरीद के लिए भारत सरकार के मेक-इन-इंडिया दिशा-निर्देशों के तहत प्रक्रिया प्रारम्भ की हैं। यह ‘हाइब्रिड एन्युटी मॉडल’ (एचएएम) पर आधारित है जो देश में एएफसी सिस्टम के लिए अपनी तरह का पहला सिस्टम होगा। उन्होंने बताया कि एनसीआरटीसी का मोबाइल ऐप यात्रियों के लिए डिजिटल क्यूआर टिकट, कार्ड रिचार्ज और अन्य सुविधाओं के बुकिंग की सुविधा प्रदान करेगा। एनसीएमसी के कार्यान्वयन से भारत सरकार के एक राष्ट्र, एक कार्ड दृष्टिकोण को पूरा करने में मदद मिलेगी, जिसमें एक एनसीएमसी कार्ड का देश में किसी भी इंटरसिटी और इंट्रासिटी परिवहन प्रणाली में यात्रा के अलावा खुदरा लेन-देन के लिए भी उपयोग करने की अनुमति होगी। हिन्दुस्थान समाचार/फरमान