panchayat-elections-fake-voting-will-stop-on-single-day-votes
panchayat-elections-fake-voting-will-stop-on-single-day-votes
उत्तर-प्रदेश

पंचायत चुनाव : एक ही दिन वोट पड़ने से रुकेगा फर्जी मतदान

news

- नए सिरे से करनी पड़ेगी चुनाव संबंधी तैयारी हमीरपुर, 25 फरवरी (हि.स.)। पंचायत चुनाव में सर्वाधिक शिकायतें ग्राम पंचायतों में न रहने वाले व्यक्तियों को वोटर बनाए जाने की होती हैं। दूसरी ग्राम पंचायतों सहित बाहर के लोग मतदाता बन जाते हैं। यह सब चुनाव जीतने के लिए उम्मीदवारों की ओर से किया जाता है। इसमें बहुत मामले सच भी होते हैं। तमाम प्रयासों के बाद भी मतदान के दिन तक यह समस्या बनी रहती है। जिससे कानून व्यवस्था पर भी असर पड़ सकती है। एक ही दिन मतदान होने पर दूसरी ग्राम पंचायतों के दर्ज मतदाता वोट नहीं डाल सकेंगे। इससे फर्जी मतदान रुकने के साथ ही वोट प्रतिशत कम होगा। जबकि इसके लिए अधिक कर्मचारियों व फोर्स की जरूरत पड़ेगी। प्रदेश में चुनाव चार चरणों में कराने को लेकर राज्य निर्वाचन आयुक्त वेद प्रकाश वर्मा द्वारा सभी मंडलायुक्त के साथ ही अलग अलग समय पर डीएम से वीडियो कांफ्रेंसिंग की जा रही है। चित्रकूटधाम मंडल के साथ जिले की वीसी गुरुवार को शाम पांच बजे हुई। इस संबंध में अपर निर्वाचन आयुक्त वेद प्रकाश वर्मा ने चर्चा किए जाने वाले बिंदुओं पर उल्लेख किया। इसके अनुसार चुनाव प्रक्रिया एक जनपद एक चरण में संपन्न कराए जाने में मंडल के अन्य जनपदों एवं दूसरे मंडलों से बुलाए जाने वाले कर्मचारियों की संख्या एवं उनके आवागमन की व्यवस्था पर चर्चा हुई। चार चरणों में होने वाली चुनाव प्रक्रिया में प्रयुक्त होने वाली सामग्री की उपलब्धता, कार्मिकों को प्रशिक्षण, संवेदनशील, अतिसंवेदनशील, अतिसंवेदनशील प्लस एवं सामान्य मतदान केंद्र व स्थलों के संबंध में भी चर्चा हुई। चुनाव तैयारियों का काम देख रहे जिम्मेदारों की ओर से नए सिरे से ब्योरा तैयार किए जाने को कहा गया। एक बूथ पर अधिकतम 800 मतदाता त्रिस्तरीय पंचायत मार्च-अप्रैल के मध्य होना संभावित है। इस संबंध में एक ही चरण में चुनाव कराए जाने पर विचार किया जा रहा है। एक बूथ पर 800 मतदाता वोट डालेंगे। मतदान के समय चारों पदों अर्थात प्रधान ग्राम पंचायत, सदस्य ग्राम पंचायत, सदस्य क्षेत्र पंचायत एवं सदस्य जिला पंचायत के मतपत्र एक ही मतपेटी में पड़ेंगे। ऐसी स्थित में मतदान स्थल पर दो मतपेटी दी जाएगी। वहीं पांच मतपेटी प्रति मतदान स्थल के हिसाब से सेक्टर मजिस्ट्रेट की अभिरक्षा में रहेंगी। जिसे पीठासीन अधिकारी की मांग पर उन्हें उपलब्ध कराया जाएगा। सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी पंचायत एसके शुक्ला ने गुरुवार को शाम बताया कि राज्य निर्वाचन आयुक्त की ओर से वीसी में चुनाव संबंधी तमाम दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। संवेदनशील केंद्रों व बूथों सहित स्ट्रांग रूम, रूट चार्ट आदि के संबंध में रिपोर्ट तैयार कराई जा रही है। साथ ही मतदान कार्मिकों की सूची लेकर फीडिंग का कार्य कराया जा रहा है। विकासखंडवार मतदाताओं की संख्या पर एक नजर ब्लाक, ग्राम पंचायतें, मतदान केंद्र, मतदेय स्थल, मतदाता सरीला 45 - 73 - 151 - 85982 राठ 41 - 80 - 129 - 78495 कुरारा 38 - 63 - 127 - 71388 गोहांड 49 - 82 - 151 - 88913 सुमेरपुर 57 - 103 - 239 - 127467 मौदहा 63 - 95- 223 - 120665 मुस्करा 37 - 77 - 178 - 107661 हिन्दुस्थान समाचार/ पंकज/ मोहित