पंचायत चुनाव : 5214 पदों के लिए 12 लाख मतदाता मत पेटियों में बंद करेंगे 9711 उम्मीदवारों का भाग्य

पंचायत चुनाव : 5214 पदों के लिए 12 लाख मतदाता मत पेटियों में बंद करेंगे 9711 उम्मीदवारों का भाग्य
panchayat-elections-12-lakh-voters-for-5214-posts-will-close-the-fate-of-9711-candidates-in-the-ballot-boxes

— 3643 पदों के उम्मीदवार चुने जा चुके हैं निर्विरोध, प्रधान और जिला पंचायत सदस्य के सभी पदों पर होगा मतदान कानपुर, 14 अप्रैल (हि.स.)। उत्तर प्रदेश में हो रहे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तहत जनपद में पहले चरण के तहत 15 अप्रैल को मतदान होना है। बुधवार को अलग-अलग जगहों से पोलिंग पार्टियां रवाना हो गईं और 5214 पदों के लिए करीब 12 लाख मतदाता 9711 उम्मीदवारों के भाग्य को मतपेटियों में बंद कर देंगे। हालांकि नामांकन पत्र वापसी के बाद 3643 पदों के उम्मीदवार निर्विरोध चुने जा चुके हैं। जिनमें 23 क्षेत्र पंचायत सदस्य के और बाकी ग्राम पंचायत सदस्य के उम्मीदवार रहें। पंचायत चुनाव की सरगर्मियां बीते दो माह से ग्रामीण क्षेत्रों पर जोरों पर रहीं और अब गुरुवार को मतदाताओं के हाथ में सबकुछ रहने वाला है। जनपद के 32 जिला पंचायत सदस्य, 590 ग्राम प्रधान, 766 क्षेत्र पंचायत सदस्य, 3826 ग्राम पंचायत सदस्य के चुनाव के लिए 15 अप्रैल को मतदान होगा। बुधवार को अलग-जगहों से सभी पोलिंग पार्टियां मतदेय स्थलों के लिए रवाना हो गईं। जनपद में 1994 बूथों पर गुरुवार को अलग-अलग पदों के लिए मतदान होना है और मतदाता उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला मत पेटियों में बंद कर देंगे। शाम पांच बजे तक पोलिंग पार्टियां बूथों पर पहुंच गईं और ब्यूटीज तैयार करने में जुटी रही, ताकि गुरुवार को समय से मतदान शुरु हो जाए। मतदान सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक होना है। इन जगहों से रवाना हुई पोलिंग पार्टियां नोडल अधिकारी वीरेन्द्र पाण्डेय ने बताया कि बुधवार को सरसौल के जवाहर नवोदय विद्यालय, बिधनू के राजकीय इंटर कॉलेज, कल्याणपुर के राजकीय कन्या इंटर कॉलेज, घाटमपुर में कैप्टन सुखवासी सिंह इंटर कॉलेज, पतारा में नेहरु इंटर कॉलेज, भीतर गांव में पंडित बेनी सिंह भारत इंटर कॉलेज, बिल्हौर में बाबा रघुनंदन दास इंटर कॉलेज शिवराजपुर में राम सहाय इंटर कॉलेज, चौबेपुर में पंडित राम कुमार विद्यापीठ इंटर कॉलेज, ककवन के डीपीएस नेहरु इंटर कॉलेज से पोलिंग पार्टियों को रवाना कर दिया गया है। इन पदों पर होना है मतदान जिला पंचायत, क्षेत्र पंचायत, ग्राम पंचायत प्रधान और ग्राम पंचायत सदस्य के कुल 8857 पदों के लिए 15428 उम्मीदवारों ने नामांकन कराया था। पर्चा खारिज और नाम वापसी के बाद 9711 उम्मीदवार चुनाव मैदान में किस्मत अजमा रहे हैं। जिला पंचायत सदस्य (डीडीसी) के 32 पदों के सापेक्ष 399 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। क्षेत्र पंचायत सदस्य (बीडीसी) के 789 पदों में 23 पद निर्विरोध चुने गये, इस प्रकार 766 पदों के लिए 3402 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। ग्राम पंचायत प्रधान के 590 पदों के लिए 4485 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। ग्राम पंचायत सदस्य के 7446 पदों में 3620 पद निर्विरोध चुन लिए गये। इस प्रकार 3826 पदों के लिए 1425 उम्मीदवार चुनाव मैदान में बचे हुए हैं। कानपुर नगर जनपद के 10 विकास खण्ड क्षेत्रों में चार प्रकार के पदों के लिए 1245527 मतदाता मतदान करेंगे। इन सीटों पर है टक्करी चुनाव जिला पंचायत की हॉट सीट में घाटमपुर विकास खण्ड की गिरसी सीट पर भाजपा ने पूर्व कैबिनेट मंत्री स्व0 कमल रानी वरुण की बेटी स्वप्निल वरुण चुनाव मैदान में हैं। मां के निधन के बाद स्वप्निल वरुण उप चुनाव में घाटमपुर विधानसभा सीट से दावेदारी की थी, लेकिन पार्टी ने टिकट नहीं दिया था। इनके खिलाफ सपा से सुमन संखवार चुनाव मैदान में हैं। घाटमपुर विकास खण्ड की चौबेपुर जिला पंचायत सीट है। इस सीट पर भाजपा के पूर्व क्षेत्रीय मंत्री व केडीए बोर्ड के सदस्य रामलखन रावत चुनाव मैदान में हैं। इनके खिलाफ सपा की सोमवती संखवार हैं जो कई वर्षों से विधानसभा चुनाव की तैयारियां कर रही हैं। कल्याणपुर विकास खण्ड की सचेंडी जिला पंचायत सीट से भाजपा की कमला सिंह चुनाव मैदान में हैं। कमला सिंह का बेटा राघवेन्द्र सिंह चौहान भाजपा युवा मोर्चा ग्रामीण का जिलाध्यक्ष हैं। इसके साथ ही इन्ही के परिवार में चार बार भौंती प्रतापपुर ग्राम पंचायत में प्रधानी रही। इनके खिलाफ सपा की रुबी सिंह है, जो पिछले ग्राम पंचायत चुनाव में राघवेन्द्र के परिवार से हार गईं थी। रुबी सिंह के पति राम बहादुर सिंह उर्फ छुन्नू मुन्नू सिंह राघवेन्द्र के परिवार के शत्रुघन सिंह को ग्राम पंचायत चुनाव में पहले हरा चुके हैं। इसी प्रकार सरसौल में भाजपा से सरोजनी देवी, जिनके खिलाफ सपा के राजेन्द्र ठेकेदार हैं। शिवराजपुर ब्लॉक की घिमऊ जिला पंचायत सदस्य सीट पिछले 25 वर्षों से जनपद की सबसे हॉट सीट मानी जाती थी, क्योंकि इस सीट पर बिकरु कांड के गुनहगार व पुलिस मुठभेड़ में मारा गया कुख्यात अपराधी विकास दुबे का दबदबा था। इस सीट पर विकास स्वयं सदस्य रह चुका था और परिवार के लोग भी जीत कर पहुंचे थे। निवर्तमान में विकास दुबे की पत्नी रिचा दुबे जिला पंचायत सदस्य है। विकास के मारे जाने के बाद पहली बार इस सीट पर उम्मीदवारों में जनता का आर्शीवाद लेने के लिए होड़ मची है। इस सीट पर भाजपा से प्रभाकर अवस्थी हैं जिनको निर्दलीय उम्मीदवार अंकुश सिंह टक्कर दे रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/अजय/मोहित