मेडिकल इमरजेंसी में एक मरीज के साथ रहेगा केवल एक तीमारदार

मेडिकल इमरजेंसी में एक मरीज के साथ रहेगा केवल एक तीमारदार
only-one-person-will-remain-with-a-patient-in-medical-emergency

मेरठ, 04 मई (हि.स.)। एलएलआरएम मेडिकल काॅलेज में डॉक्टरों और मरीजों के तीमारदारों के बीच हो रहे विवादों के बीच प्राचार्य ने बड़ा निर्णय लिया है। मेडिकल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती एक मरीज के साथ अब केवल एक तीमारदार ही रहेगा। इमरजेंसी में फर्श पर डेरा डाले बैठे तीमारदारों को बाहर का रास्ता दिखाया गया। मेडिकल काॅलेज की इमरजेंसी में भर्ती मरीजों के साथ बड़ी संख्या में तीमारदार आकर रहते हैं। इससे डाॅक्टरों को भी मरीजों का उपचार करने में दिक्कत आती है और कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका बनी रहती है। तीमारदार ज्यादा होने के कारण आए दिन डाॅक्टरों के साथ उनके विवाद हो रहे थे। मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. ज्ञानेंद्र कुमार ने बताया कि कई दिन से मेडिकल में आए-दिन मरीजों के तीमारदारों द्वारा डॉक्टरों के साथ दुर्व्यवहार के मामले सामने आ रहे थे। जिसके चलते इमरजेंसी में सुरक्षा गार्डों की संख्या बढ़ा दी गई है। अब इमरजेंसी में एक मरीज के साथ सिर्फ एक तीमारदार को रहने की अनुमति दी जा रही है। सुरक्षा गार्डों ने इमरजेंसी में फर्श पर चादर बिछा कर पड़े मरीजों के कई-कई तीमारदारों को इमरजेंसी से बाहर का रास्ता दिखा दिया। इससे इमरजेंसी में व्यवस्था सुधरी हुई नजर आई। हिन्दुस्थान समाचार/कुलदीप