नव संवत्सर का स्वागत ‘रविरथ’ के प्रथम आगमन से होगा : डॉ बीबी अग्रवाल

नव संवत्सर का स्वागत ‘रविरथ’ के प्रथम आगमन से होगा : डॉ बीबी अग्रवाल
new-samvatsar-will-be-welcomed-with-the-first-arrival-of-39ravirath39-dr-bibi-agarwal

प्रयागराज, 12 अप्रैल (हि.स.)। नव संवत्सर स्वागत उत्सव का आयोजन सृजन परिवार विगत तीन वर्षों से करता आ रहा है। इसी कड़ी में 13 अप्रैल से प्रारम्भ होने वाले नव संवत्सर 2078 चैत्र शुक्ल प्रतिपदा का ‘रविरथ’ के प्रथम आगमन का स्वागत शंखनाद, ओम के उच्चारण एवं जलांजलि से अभिषेक कर किया जायेगा। सृजन अस्पताल के निदेशक डॉ. बी.बी अग्रवाल ने बताया कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण विस्तृत रूप से कार्यक्रम नहीं किया जायेगा। मंगलवार की भोर में 5.47 पर सूर्योदय के प्रथम आगमन का स्वागत सभी अपने घर से शंखनाद करके करेंगे। उन्होंने बताया कि चैत्र महिने के शुक्ल पक्ष की प्रथम तिथि को सृष्टि का प्रारम्भ हुआ था। इसी नववर्ष के दिन ग्रह और नक्षत्रों में परिवर्तन होता है। जिसका प्रभाव मानव जाति पर प्रत्यक्ष रूप से पड़ता है। उन्होंने बताया कि पवित्र नवरात्रि का आगमन भी इसी दिन से होता है। यह दिन कल्प, सृष्टि एवं युगादि का प्रारम्भिक दिन भी है। इसलिए सभी को ‘रविरथ’ का स्वागत करना चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/विद्या कान्त