जनपद में लागू हुई राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना, एक अगस्त से निःशुल्क होगा पशुओं में कृत्रिम गर्भाधान
जनपद में लागू हुई राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना, एक अगस्त से निःशुल्क होगा पशुओं में कृत्रिम गर्भाधान
उत्तर-प्रदेश

जनपद में लागू हुई राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना, एक अगस्त से निःशुल्क होगा पशुओं में कृत्रिम गर्भाधान

news

- 500 गांव में 50 हजार पशुओं को किया जायेगा लाभान्वित ललितपुर, 31 जुलाई (हि.स.)। जनपद में अन्ना पशुओं पर अंकुश लगाने, जानवरों को उन्नतशील नस्ल पैदा करने के अलावा पशुओं की दुग्ध उत्पादन की वृद्धि करने जिससे पशु मालिकों की आय वृद्धि हो। इस दिशा में केन्द्र सरकार द्वारा ऐतिहासिक कदम उठाया गया है और राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना लागू की गयी है। एक से यह योजना लागू होगी। जिसमें 31 मई 2021 तक जनपद के 500 गांव में 50 हजार जानवरों को निःशुल्क कृत्रिम गर्भाधान कराया जायेगा। जिलाधिकारी के आदेश पर पशु विभाग ने आवश्यक सभी तैयारियां कर ली हैं और आज से यह अभियान शुरू कराया जायेगा। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा टीमों का गठन किया गया है जो गांव-गांव जाकर गाय एवं भैंसों में कृत्रिम गर्भाधान करायेंगे। जानकारी देते हुए मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा.एस.के.शाक्य ने बताया कि केन्द्र सरकार द्वारा राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना लागू की गयी है, जिसके तहत जानवरों में निःशुल्क कृत्रिम गर्भाधान कराया जायेगा। शासन के आदेश एवं जिलाधिकारी योगेश कुमार शुक्ल के निर्देशन में जनपद के 500 गांवों का चयन कर लिया गया है। जिसमें प्रत्येक गांव में सौ पशुओं को इस योजना से लाभान्वित किया जायेगा। इसके लिए पशु विभाग की टीमों का गठन किया गया है। जिसमें पशु चिकित्सक, पशुधन प्रसार अधिकारी, पैराबेटर एवं अन्य कर्मचारी गांव-गांव जाकर इस अभियान को सफल बनायेंगे। निश्चित तौर पर शासन की इस योजना का लाभ पशु मालिकों को मिलेगा। उन्होंने बताया कि कृत्रिम गर्भाधान से गाय एवं भैंसों की उन्नत नस्ल पैदा होगी जो अधिक मात्रा में दूध देंगे। जिस कारण दुग्ध उत्पादन बढ़ने से आय वृद्धि होगी, जिससे देश की समृद्धि होगी। उन्होंने बताया कि इस योजना से निश्चित तौर पर अन्ना पशुओं पर अंकुश लगेगा। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी ने बताया कि यह अभियान एक अगस्त से शुरू होगा जो 31 मई 2021 तक चलेगा। इस अवधि में 500 गांवों के 50 हजार जानवरों को कृत्रिम गर्भाधान कराया जायेगा। इसके लिए जिलाधिकारी योगेश कुमार शुक्ल के आदेश पर गांव का चयन कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि इस योजना की दैनिक प्रगति रिपोर्ट पोर्टल पर अपलोड की जायेगी। योजना के सफल क्रियान्वयन एवं अनुश्रवण के लिए जनपद स्तर पर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में एक त्रिसदस्यीय समिति का गठन किया गया है, जो साप्ताहिक रूप से कार्यक्रम की प्रगति के सम्बन्ध में बैठक करेगी। उन्होंने बताया कि योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए पशु विभाग के समस्त अधीनस्थों को दिशा-निर्देश दिये गये हैं। हिन्दुस्थान समाचार/कुंदन/मोहित-hindusthansamachar.in